कोविडकाल में बंद हुई आंगनबाड़िया 20 माह बाद पुनः शुरू, तिलक लगाकर व गुब्बारे देकर किया स्वागत

कोविडकाल में बंद हुई आंगनबाड़िया 20 माह बाद पुनः शुरू, तिलक लगाकर व गुब्बारे देकर किया स्वागत

रतलाम, वन्देमातरम् न्यूज।
कोरोना संकट काल में बंद हुई आंगनबाडिया 20 माह बाद पुनः शुरू हो गई है। आईये आंगनबाड़ी थीम पर जनप्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों, शौर्यदल सदस्यों, मातृ सहयोगनी सदस्यों, हितग्राही बच्चों के पालकों एवं विभागीय अधिकारियों की उपस्थिति में आंगनबाड़ी केंद्रों का शुभारंभ किया गया। बच्चों के आगमन हेतु आंगनबाड़ी केंद्रों में रंगोली, वंदनवार, फुलों की मालाएं सजाई जाकर बच्चों को तिलक लगाकर व गुब्बारे देकर स्वागत किया गया।
जिला कार्यक्रम अधिकारी रजनीश सिन्हा ने बताया 20 माह बाद स्थितियां सामान्य होने पर शासन द्वारा 15 नवंबर 2021से आंगनबाड़ी केंद्र पुनः खोले जाने के निर्देश दिए थे। जिसमें पूर्व की भांति केंद्र संचालन किया जाकर बच्चों को केंद्रों पर नाश्ता व भोजन वितरण आरंभ करना हैं। उक्त निर्देश के परिपालन में जिलें में 2124 केंद्र पुनः खोले गए। विभागीय अधिकारियों की माने तो कोरोनाकाल के कारण जिलें के 2124 आंगनबाड़ी केंद्रों को बंद कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं द्वारा हितग्राहियों को घर पहुंच सेवा में पूरक पोषण आहार अंतर्गत ‘रेडी टू इट’ तथा ‘टेक होम राशन’ का वितरण किया जा रहा था। कोरोना माहमारी के कारण मार्च 2020 से शासन द्वारा आंगनबाड़ी केंद्र बंद कर दिए गए थे जिन्हें अप्रैल 2021 में खोला गया था परंतु बच्चों को आने की अनुमति नहीं थी। उक्त समयावधि में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा कोविड वैक्सीनेशन में सहयोग किया जा रहा था।
33419 बच्चे हुए उपस्थित
केन्द्रों में बच्चों को खीर-पुडी भोजन में दी जाकर समारोहपूर्वक आयोजन किया गया तथा जिलें की समस्त 10 परियोजनाओं में 03 वर्ष से 05 वर्ष के दर्ज 51956 बच्चों में से 33419 बच्चे उपस्थित हुए। सहायक संचालक अंकिता पंड्या ने बताया आईये आंगनबाड़ी शुभारंभ आयोजन में रतलाम शहरी एवं रतलाम ग्रामीण के आंगनबाडी केन्द्रों पर सहभागिता की गई।

पैर हल्दी कुमकुम से भिगोकर शुभ प्रवेश कराया

सेक्टर संत नगर आंगनवाड़ी केंद्र दीनदयाल 4 श्रीनगर पर पर्यवेक्षक एहतेशाम अंसारी की उपस्थिति में कार्यकर्ता कोमल मालवी, अनिता झालिवाल ने आंगनबाड़ी केंद्र सुसज्जित किया। बच्चों को पर्यवेक्षक द्वारा तिलक लगाकर पुष्प से स्वागत किया। कार्यकर्ता ने थाली में बच्चों के पैर हल्दी कुमकुम से भिगोकर शुभ प्रवेश कराया।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.