जीएम के आने के पहले रतलाम से चित्तौड़गढ़ तक स्टेशन हुए चकाचक, तैयारियों में जुटा रहा रेलवे अमला

जीएम के आने के पहले रतलाम से चित्तौड़गढ़ तक स्टेशन हुए चकाचक, तैयारियों में जुटा रहा रेलवे अमला

रतलाम, वन्देमातरम् न्यूज।
पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक (Westran Railway Genral Manegar) आलोक कंसल (Alok kansal) 26 नवंबर को रतलाम रेल मंडल का निरीक्षण करने जीएम स्पेशल ट्रेन से आ रहे है। जीएम के सालाना निरीक्षण को लेकर रतलाम रेल मंडल के अधिकारी अंतिम समय तक तैयारीयों में लगे रहे।  स्वयं मंडल रेल प्रबंधक (DRM) विनीत गुप्ता तैयारियों की मॉनिटरिंग करते रहे। जीएम के आने के पहले रतलाम से लेकर चित्तौड़गढ़ तक के स्टेशनों को चकाचक किया गया।
महाप्रबंधक कंसल शुक्रवार सुबह 5.20 बजे जीएम स्पेशल से रतलाम आएंगे। जीएम स्पेशल ट्रेन 5 मिनिट रुककर कर चित्तौड़गढ़ के लिए रवाना होगी। जीएम सुबह 8.45 बजे चित्तौड़गढ़ से निरीक्षण शुरू करेंगे। दो लेवल क्राॅसिंग, दो ब्रिज, एक कर्व और चार स्टेशनों काे देखते हुए शाम 5 बजे रतलाम पहुंचेंगे।
इसलिए महत्वपूर्ण है दौरा – जीएम जिस सेक्शन का दौरा करेंगे वह सेक्शन इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि कुछ दिनों पहले ही रेलवे ने स्पीड 100 से बढ़ाकर 110 किमी प्रति घंटे की है। 29 सितंबर को केंद्र सरकार रतलाम-नीमच रेल खंड के दोहरीकरण को मंजूरी दे चुका है। 132.92 किमी लंबे सेक्शन का दोहरीकरण 2025 तक पूरा करने का लक्ष्य है। रेल अधिकारियों के अनुसार  2016 में पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक ने चित्तौड़गढ़-रतलाम सेक्शन का निरीक्षण किया था। पांच साल बाद भी वही सेक्शन देखेंगे। रतलाम मंडल द्वारा रिकॉर्ड को अपडेट करने के साथ व्यवस्थाओं को सुधारा गया है।

इसलिए महत्वपूर्ण है दौरा – जीएम जिस सेक्शन का दौरा करेंगे वह सेक्शन इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि कुछ दिनों पहले ही रेलवे ने स्पीड 100 से बढ़ाकर 110 किमी प्रति घंटे की है। 29 सितंबर को केंद्र सरकार रतलाम-नीमच रेल खंड के दोहरीकरण को मंजूरी दे चुका है। 132.92 किमी लंबे सेक्शन का दोहरीकरण 2025 तक पूरा करने का लक्ष्य है। रेल अधिकारियों के अनुसार  2016 में पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक ने चित्तौड़गढ़-रतलाम सेक्शन का निरीक्षण किया था। पांच साल बाद भी वही सेक्शन देखेंगे। रतलाम मंडल द्वारा रिकॉर्ड को अपडेट करने के साथ व्यवस्थाओं को सुधारा गया है।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.