भाजपा नेता ने ही लगा दी नल जल योजना में सेंध, कलेक्टर ने दिए सोमानी कंस्ट्रक्शन कम्पनी के खिलाफ FIR के निर्देश, तीन अधिकारियों पर भी होगी कार्रवाई

भाजपा नेता ने ही लगा दी नल जल योजना में सेंध, कलेक्टर ने दिए सोमानी कंस्ट्रक्शन कम्पनी के खिलाफ FIR के निर्देश, तीन अधिकारियों पर भी होगी कार्रवाई

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
जल जीवन मिशन अंतर्गत रतलाम जिले के बाजना विकासखंड के 4 गांवों में नल जल योजना क्रियान्वयन में बड़ी गड़बड़ी सामने आई। स्कूलों में नल से जल देने के कार्य के तहत बनाए गए प्लेटफार्म में सरिए का उपयोग नहीं किया और ठेकेदार से सांठगांठ कर भुगतान कर दिया गया। अब कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम द्वारा संबंधित ठेकेदार सोमानी कंस्ट्रक्शन के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। इसके अलावा सम्बंधित उपयंत्री को निलंबित कर व विभागीय अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का प्रस्ताव भी शासन को भेज जा रहा है। गौरतलब है की उक्त कंस्ट्रक्शन कंपनी का मालिक भाजपा नेता अरविंद सोमानी है। हाल ही में भाजपा युवा मोर्चा ने ठेकेदार अरविंद सोमानी को अपना आईटी सेल का जिला प्रभारी नियुक्त किया है। यही कारण रहा था कि बार-बार चेतावनी के बाद भी अरविंद सोमानी ने सारे नियम कायदे ताक पर रख दिये। राजनीतिक रसूख रखने वाले नेता पर कलेक्टर की कार्रवाई कहां तक पहुंचेगी यह देखना बाकी है।

कलेक्टर की जांच में खुली भ्रष्टाचार की पोल
ग्राम आबापाड़ा, पोनबट्टा, धोलपुरा एवं हैवड़ादामा कला ग्रामों में स्कूलों में नल से जल देने के कार्य के तहत बनाए गए प्लेटफार्म में सरिए का उपयोग नहीं किया गया परंतु भुगतान कर दिया गया। इस प्रकार की गड़बड़ी पाने पर कलेक्टर ने सख्त एक्शन लेते हुए ठेकेदार सोमानी कंस्ट्रक्शन के विरुद्ध तत्काल एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए हैं। साथ ही उपयंत्री एसआई अली को निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने बताया कि पीएचई कार्यपालन यंत्री पीके गोगादे तथा सहायक यंत्री नरेश कुआल के विरुद्ध कार्रवाई का प्रस्ताव शासन को प्रेषित किया जा रहा है।
बाजना विकासखण्ड में 85 लाख का ठेका
विभागीय अधिकारियों की माने तो बाजना विकासखंड के करीब 40 गांवों में नल जल योजना में काम को लेकर 85 लाख रुपए का ठेका रतलाम के रहने वाले सोमानी कंस्ट्रक्शन के अरविंद सोमानी ने ले रखा है। पूर्व में कलेक्टर को गड़बड़ी की शिकायत मिली थी। कलेक्टर ने विभागीय अधिकारियों को कार्रवाई ले लिए कहा था लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। बताया जाता है गुरुवार को कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने पीएचई विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर नल जल योजना की समीक्षा की, उसी दौरान जब कार्रवाई के बारे में पूछा तो पीएचई विभाग के अधिकारी जवाब नहीं दे पाए। तब कलेक्टर ने लताड़ लगाते हुए तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.