नामली में दो समुदाय के बीच विवाद, टीआई खाना खा रहे थे, एसपी ने चलाया वायरलैस

नामली में दो समुदाय के बीच विवाद, टीआई खाना खा रहे थे, एसपी ने चलाया वायरलैस

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
‌नामली स्थित सेमलिया रोड पर मंगलवार रात 9.30 बजे गाड़ी निकालने की बात पर मामूली कहासुनी गंभीर विवाद में तब्दील हो गई। दो समुदाय के लोगों के आमने-सामने होकर मारपीट की नोबत पहुंचने पर स्थानीय व्यक्ति ने जब टीआई रामसिंह भाभोर को मोबाइल लगाया तो उन्होंने खाना खाकर आने की बात कही। विवाद तूल पकड़ने पर एसपी गौरव तिवारी ने आसपास के थाना प्रभारियों को वायरलैस पर बल सहित घटनास्थल पहुंचने के निर्देश दिए। तब पुलिस हरकत में आई। पुलिस बल और स्थानीय रहवासियों ने बीचबचाव कर स्थिति को नियंत्रण में किया। चर्चा है कि पुलिस के पहुंचने में थोड़ा और विलम्ब होता तो मौके पर बड़ी घटना घट सकती थी।
मौके पर स्थिति नियंत्रण होने के बाद एक पक्ष दूसरे पक्ष के खिलाफ एफआईआर में बलवा और आर्म्स एक्ट की धारा बढ़ाने का थाने में दबाव बनाते रहे। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने दूसरे पक्ष के खिलाफ रात 1 बजे ही आठ नामजद और छह अज्ञात आरोपियों के खिलाफ एफआइआर तैयार कर दी थी, लेकिन फरियादी पक्ष ने एफआइआर पर धारा नहीं बढाने पर हस्ताक्षर किए बगैर लौट गए। बुधवार दोपहर तक मौके पर नामली के अलावा आसपास के थानों के प्रभारी सहित पुलिसबल तैनात रहा। इधर वरिष्ठ अधिकारी भी पूरे घटनाक्रम पर नजर बनाएं हुए हैं।

मामूली विवाद ने ऐसे पकड़ा तूल

प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार रात करीब 9.30 बजे सेमलिया रोड पर एक विवाह समारोह में रतलाम के शैरानीपुरा निवासी दो युवक सफेद कार से आए थे। प्रीतिभोज में शामिल होकर जब वह अपनी कार से वापस निकले तभी उसी क्षेत्र के दो युवक मोटरसाइकल से निकले। संकरी सड़क होने से दोनों पक्षों के बीच कहासुनी हुई और उसके बाद मारपीट शुरू हो गई। विवाह समारोह में शामिल लोग और दूसरे पक्ष से अन्य ग्रामीणों को जानकारी मिली तो बड़ी संख्या में दोनों समुदाय के लोग एकत्र होकर मारपीट करने लगे, जिससे क्षेत्र में हड़कंप की स्थिति बन गई।

क्या कहते हैं अधिकारी

नामली में स्थिति नियंत्रण में है। मौके पर एहतियात बतौर बल तैनात कर रखा है। शांतिभंग करने का जो भी व्यक्ति प्रयास करेगा, उसके खिलाफ नियमानुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी। – गौरव तिवारी, एसपी, रतलाम

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.