अभिनव पहल : सेवानिवृत्ति पर शिक्षकों ने छात्रों को एक लाख रुपए प्रोत्साहन व विद्यालय विकास के लिए भूमि की दान

अभिनव पहल : सेवानिवृत्ति पर शिक्षकों ने छात्रों को एक लाख रुपए प्रोत्साहन व विद्यालय विकास के लिए भूमि की दान

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
जिले के शासकीय स्कूलों के दो शिक्षकों ने अपनी सेवानिवृत्ति पर अभिनव पहल की है। एक शिक्षक ने अपने स्कूल के कक्षा 12वीं में 85 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को 11-11 हजार व एक शिक्षक ने स्कूल विकास के लिए अपनी निजी भूमी से 15 हजार स्केवेयर फीट जमीन दान की है।
मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के जिला उपाध्यक्ष एवं पिपलौदा विकास खंड शाखा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रमजूखान मंसूरी बरखेड़ी के शासकीय उमावि से व अमृतलाल परमार प्राथमिक विद्यालय पिंगराला से सेवानिवृत्त हुए। दोनों स्कूल बरखेड़ी के संकुल अन्तर्गत आते है तो दोनों शिक्षकों का सम्मान समारोह विद्यालय परिवार बरखेड़ी द्वारा एक साथ रखा गया। शिक्षक मंसूरी ने अपनी संस्था के 9 प्रतिभावान छात्रों को जिन्होंने कक्षा 12वीं में 85 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए हैं उनको 11 -11 हजार रुपए नगद प्रोत्साहन कुल 99 हजार की धनराशि राशि प्रदान की गई। वहीं शिक्षक परमार द्वारा अपने निजी भूमि से 15000 स्केवेयर फीट जमीन शासकीय विद्यालय पिंगराला के विकास के लिए दान की।

शिक्षकों को सम्मानित करते विद्यार्थी।

समारोह में मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ जिला संरक्षक दीपक सुराना एवं पिपलौदा तहसील शाखा अध्यक्ष पवन पटवा, संजय शर्मा, नकीब अंसारी, योगेश झाला, नितीन दुबे, मिथिलेश बैरागी आदि ने संघ परिवार की ओर से रमजूखा मंसूरी का शाल श्रीफल भेंट कर सम्मान किया। राज्य शिक्षक संघ की ओर से नयूमखां पठान, अशोक बंसल, रामदयाल आंजना, शिवनारायण चौधरी एवं साथियों ने सेवानिवृत्त शिक्षकों को शाल श्रीफल व अभिनंदन पत्र भेंट किया। संस्था के छात्रों ने भी अभिनंदन किया
सम्मान समारोह को महेश मिश्रा, बोथलाल मीणा, महेंद्र प्रताप सिंह, कमल सिंह सिसोदिया एवं जनपद सदस्य पपिपलौदा नारायण सिंह चंद्रावत ने संबोधित किया। सभी ने शिक्षकों द्वारा सेवानिवृत्ति पर की गई इस अनुकरणीय पहल की प्रशंसा की। ओमप्रकाश आंजना, नंदकिशोर पंवार, समरथ राठौड़, कुसुम शर्मा, अंगुरबाला पाटीदार, नंदकिशोर कुमावत, हीरालाल प्रजापति आदि ने आयोजन को सफल बनाया। संचालन विष्णु रावत एवं फातिमा ने किया। आभार प्राचार्य शिवनारायण चौधरी ने माना।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.