मामला अमानत में खयानत का: 39.77 लाख रुपए का सोना गायब करने वाले अभी भी पुलिस से दूर

रतलाम, वंदे मातरम् न्यूज।
रतलाम के 5 आभूषण व्यापारियों के राजकोट से पार्सल से मंगाए सोने के 39.77 लाख रुपए के जेवरों को गायब करने वाला ट्रेवल्स सर्विस संचालक और वाहन चालक पुलिस की पहुंच से अभी भी दूर है। स्टेशन रोड पुलिस ने वारदात के 13 दिन बाद 2 अक्टूबर को अमानत में खयानत के मामले में उजाला ट्रेवल्स एंड लगेज सर्विस के संचालक लाला ठाकुर और लोडिंग ऑटो से डिलीवरी देने वाले मनीष उर्फ धर्मेंद्र निगम के खिलाफ विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है, लेकिन एफआईआर के 5 दिन बीतने के बाद भी फरार संचालक और डिलीवरी देने वाले आरोपी की तलाश नहीं हो सकी।
राजकोट की भारत पार्सल सर्विस के रतलाम चांदनी चौक स्थित ब्रांच ऑफिस के रवि पिता गजेंद्र राठौड़ ने स्टेशन रोड थाने पर एफआईआर दर्ज कराई। रवि के अनुसार राजकोट से कुल 13 सराफा व्यापारियों का पार्सल जावरा रोड स्थित उजाला ट्रेवल्स एंड लगेज सर्विस के पास 19 सितंबर को पहुंचा था। दोपहर तक चांदनी चौक स्थित भारत पार्सल सर्विस की ब्रांच ऑफिस में डिलीवरी नहीं होने पर उनके द्वारा उजाला ट्रेवल्स के आफिस पहुंच संचालक लाला ठाकुर से बात की। लाला ठाकुर ने रवि को बताया कि तीन पार्सल आए हैं लोडिंग ऑटो लेकर मनीष उर्फ धर्मेंद्र निगम लेकर निकला है। काफी देर बाद मनीष जब डिलीवरी लेकर नहीं पहुंचा तब फरियादी रवि ट्रेवल्स ऑफिस पहुंच कर मनीष से 3 पार्सल बोरे उतारकर भारत पार्सल सर्विस ले गया। नियमानुसार पार्सल खोलने के दौरान वीडियो बनाया गया। बिल्टी के अनुसार रवि ने जब सामान चेक किया तो बोरे की की राजकोट में की जाने वाली सिलाई के मुताबिक अलग सिलाई दिखने पर पार्सल खोला तो उसमें 13 सराफा व्यापारियों के पैकेट की बजाए 8 पैकेट ही मिले। चर्चा करने पर उजाला ट्रेवल्स संचालक लाला ठाकुर और डिलीवरी देने वाला मनीष इधर-उधर की बात कर टालमटोल जवाब देने लगे। शंका पर ट्रेवल्स संचालक लाला ठाकुर और मनीष उर्फ धमेंद्र निगम के खिलाफ एफआईआर के बाद अभी तक पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकी। जांचकर्ता सहायक उपनिरीक्षक मोहम्मद इरफान खान के अनुसार दोनों आरोपियों की तलाश जारी है, जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर अमानत में खयानत किया 39.77 लाख रुपए का सोना बरामद किया जाएगा।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.