बैरंग लौटा अमला : नगर निगम नहीं दिखा सका कोर्ट स्टे खारिज होने का पत्र 

बैरंग लौटा अमला : नगर निगम नहीं दिखा सका कोर्ट स्टे खारिज होने का पत्र 

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
अतिक्रमण अभियान में बुधवार को बाजना बस स्टैंड क्षेत्र पर तबेले हटाने की कार्रवाई करने पहुंचे नगर निगम और पुलिस के संयुक्त अमले को उल्टे पैर लौटना पड़ा। 1 घंटे तक नगर निगम आयुक्त के निर्देश का इंतजार के साथ स्थानीय एक परिवार के आक्रोश सहन करने के बाद संयुक्त अमला मौखिक आदेश देकर मौके से रवाना हो गया।
बुधवार दोपहर करीब 12 बजे नगर निगम के स्वास्थ विभाग की ओर से एपी सिंह, लोकनिर्माण विभाग के उपयंत्री मनीष तिवारी जेसीबी व मजदूरों के साथ बाजना बस स्टैंड क्षेत्र स्थित शासकीय भूमि पर आवंटित पट्टा स्वामी बंशीलाल के तबेले पर कार्रवाई करने पहुंचे। थोड़ी देर बाद स्वास्थ अधिकारी जीके जायसवाल और माणकचौक थाने के कार्यवाहक प्रभारी दिलीप राजौरिया भी पहुंचे। कार्रवाई के दौरान पट्टा स्वामी बंशीलाल ने संयुक्त टीम को कोर्ट से स्टे का पत्र दिखाया। कोर्ट स्टे का पत्र देखने के बाद अमले ने निगम के अभिभाषक वीरेंद्र पाटीदार से चर्चा की। निगम के अभिभाषक पाटीदार ने अमले को बताया कि उक्त मामले में कोर्ट ने 12 अक्टूबर को स्टे खारिज कर दिया। पट्टा स्वामी की ओर से पहुंचे अभिभाषक ने स्टे खारिज होने का पत्र दिखाने के लिए कहा, जो कि निगम अमला मौके पर नहीं दिखा सका। काफी देर तक जद्दोजहद होने के बाद नगर निगम आयुक्त सोमनाथ झारिया ने कोर्ट से आदेश प्राप्त करने के बाद कार्रवाई की बात कही। इसके बाद संयुक्त अमला पट्टा स्वामी को दशहरा पूर्व कब्जा खाली करने की हिदायत के साथ वापस लौट आया। 

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.