35 C
Ratlām
Wednesday, April 17, 2024

सहायक सचिव ने मजदूरों के फर्जी नाम जोड़े तो सचिव निलंबित, लाखों रुपये स्वीकृत फिर भी नहीं कराए कार्य, दो ग्राम पंचायतों के सचिव पर हुई कार्रवाई

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
जिले की ग्राम पंचायतों में गड़बड़ियां रुकने का नाम नही ले रही हैं। एक पंचायत में सहायक सचिव ने खेत तालाब खुदाई कार्य पर मस्टर में अपनी मर्जी से फर्जी मजदूर के नाम से भुगतान करा लिया। सहायक सचिव पर तो कार्रवाई नहीं हुई लेकिन कार्य में देखरेख नहीं करने पर सचिव को निलंबित कर दिया। इसी तरह एक अन्य ग्राम पंचायत के भी सचिव को भी कार्य मे लापरवाही बरतने पर जिला पंचायत सीईओ मीनाक्षीसिंह ने निलंबित कर दिया है।


कार्रवाई 1- हिम्मत खेड़ी ग्राम पंचायत

पदीय दायित्वों का निर्वाह नहीं करने के कारण जनपद पंचायत आलोट के अंतर्गत ग्राम पंचायत हिम्मत खेड़ी के सचिव राकेश खींची को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया है। जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत हिम्मतखेड़ी के ग्राम वासियों ने शिकायत की थी। जांच उपयंत्री नकुल राठौर एवं पंचायत समन्वय अधिकारी रामलाल सूर्यवंशी से करवाई गई। जिसमें ग्राम हरिया खेड़ा की खेत तालाब खुदाई के कार्य पर मस्टर में अपनी मर्जी से सहायक सचिव बंशीलाल प्रजापत द्वारा फर्जी मजदूर शंकरलाल निवासी हिम्मत खेड़ी का नाम मस्टर में भरकर 190 रुपए प्रतिदिन के मान से एवं अन्य मजदूरों को 30 रुपए प्रतिदिन के मान से भुगतान करना पाया गया। सचिव द्वारा भी ध्यान नही दिया गया। अपने पदीय दायित्वों का निर्वहन नहीं करने, अनिमितता पाए जाने पर जिला पंचायत सीईओ ने ग्राम पंचायत सचिव राकेश खिंची को मध्यप्रदेश पंचायत सेवा नियम 1999 नियम (4)(1) के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। अधिकारियों के मुताबिक आगामी सप्ताह में सहायक सचिव पर भी कार्रवाई होना हैं।

कार्रवाई – 2 ग्राम पंचायत खामरिया दूसरी कार्रवाई भी आलोट जनपद में हुई है। इस जनपद के ग्राम पंचायत खमरिया के सचिव को निलंबित किया है। सचिव द्वारा पदीय दायित्वों का निर्वहन नहीं करना, कार्य के प्रति लापरवाही तथा उदासीनता बरतने, निर्देशों की अवहेलना के कारण सचिव गोपाल डांगी को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया हैं। सीईओ के अनुसार ग्राम पंचायत खमरिया में विधायक निधि से चबूतरा निर्माण लागत 2 लाख रुपए स्वीकृत वर्ष 2019-20, गौशाला के पास हर्ट निर्माण लागत 10 लाख रुपए, 15वे वित्त आयोग की राशि से पेवर ब्लॉक निर्माण, गौशाला में पानी की व्यवस्था के लिए निर्मल नीर निर्माण कार्य में 3.35 लाख रुपए स्वीकृत होने के बावजूद सचिव द्वारा कार्य पूर्ण करने में कोई रुचि नहीं लेने पर निलंबन की कार्रवाई की गई।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Copyright Content by VM Media Network