भील विश्रांति गृह से हटाया जाए अवैध कब्जा, ट्रस्ट बनाया जाए, कलेक्टर से की मांग

रतलाम, वंदे मातरम् न्यूज।
सागोद रोड स्थित (पुराने बाजना बस स्टैंड के समीप) भील विश्रांति गृह पर कब्जेधारियों से विद्यार्थियों एवं जनजाती के रुकने की समस्या उपज गई है। शासन द्वारा जनजातीय छात्रों सहित रोजमर्रा के काम करने वाले दिहाड़ी मजदूरी के विश्राम के लिए बनाई धरोहर (विश्रांति गृह) पर कब्जेधारियों से इसका अस्तित्व खत्म हो रहा है। 
जनजाती विकास मंच के विजेंद्र सिंह की ओर से शुक्रवार को कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम के समक्ष समस्या से अवगत कराया गया। कलेक्टोरेट में जनजाती विकास मंच के सिंह ने कलेक्टर से भील विश्रांति गृह से अवैध कब्जा हटाकर समाज का ट्रस्ट बनाकर जिम्मेदारी सौंपने की मांग की। जनजाती विकास मंच के सिंह ने बताया कि विश्रांति गृह पर कब्जे से छात्र-छात्राओं सहित जनजाती समाज के मजदूरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जनजाती समाज का एक ट्रस्ट बनाकर धरोहर को सौंपने के बाद विद्यार्थी सहित समाज के लोग सरलता से इसका उपयोग कर सकते हैं। कलेक्टर ने विश्रांति गृह से कब्जा हटाकर कब्जेधारियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस दौरान संजय निनामा, सुमित निनामा, मोहन डिंडोर आदि मौजूद थे।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.