22.6 C
Ratlām
Saturday, September 24, 2022

संवेदनहीन ऐसे भी : बॉयोडीजल डिपो में हादसे को 5 दिन बीते, ढोढर चौकी को शिकायत का इंतजार, प्रबंधन ने नहीं जाना झुलसे कर्मचारियों का हाल

रतलाम, वन्देमातरम् न्यूज।
ढोढर-कलालिया फंटा के बीच स्थित हिंदुस्तान बॉयोडीजल इंड्रस्टीज प्राइवेट लिमिटेड के ऑइल डिपो में हादसे के पांच दिन बाद भी पुलिस को मामले में शिकायत का इंतजार है। आग की घटना में 3 कर्मचारी झुलसे थे, जिनमें 2 की हालत गंभीर होने पर इंदौर रैफर किया है। बड़ा हादसा होने के बाद भी जिला और पुलिस प्रशासन की ओर से अब तक जांच शुरू नहीं करना और अनियमित्ता बरतने वालों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करना कई सवालों को उपजाने लगा है।

बता दें कि 15 सितंबर की शाम करीब 4.30 बजे ढोढर-कलालिया फंटा के बीच स्थित बॉयो डीजल डिपो के ऑइल टैंक में कर्मचारी काम कर रहे थे। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक समीप में सुरक्षा बगैर वेल्डिंग का काम चल रहा था। अचानक वेल्डिंग की चिंगारी से टैंक ने आग पकड़ ली। इससे मोहन पिता गोपी (45) निवासी ढोढर, संजय पिता राधेश्याम (25) निवासी सरसौदा एवं विजय पाल (40) निवासी रिछाचांदा झुलस गए थे। बॉयो डीजल डिपो में फायर सेफ्टी का बंदोबस्त नहीं होने से आग तेजी से फैली और कर्मचारियों को चपेट में लेकर गंभीर रूप से झुलसा दिया। हादसे के बाद हिंदुस्तान बॉयोडीजल इंड्रस्टीज प्राइवेट लिमिटेड के ऑइल डिपो सुरक्षा बंदोबस्त बगैर कैसे संचालित किया जा रहा था, इसके लिए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने अब तक कोई कदम नहीं उठाया। झुलसे कर्मचारियों की नाराजगी है कि अब तक डिपो चेयरमैन रतन जांगिड़ और प्रबंधन की ओर से कोई भी दोनों उपचारत कर्मचारियों की तबीयत पूछने नहीं आया।

जांचकर्ता एएसआई कुमावत को शिकायत का इंतजार
बॉयोडीजल डिपो में भीषण आग की औपचारिक जाँच में जुटे ढोढर चौकी में पदस्थ सहायक उपनिरीक्षक जगदीशचंद्र कुमावत ने वन्देमातरम् न्यूज को बताया कि हादसे में हमारे पास कोई शिकायतकर्ता नहीं आया। जब उनसे सवाल किया कि हादसे में 3 कर्मचारी झुलसे हैं। इनमें 2 गंभीर इंदौर रैफर हुए ? चौकतें हुए जवाब दिया मुझे इसकी जानकारी नहीं। सवाल– जावरा सरकारी अस्पताल में बॉयोडीजल डिपो में झुलसे कर्मचारियों का उपचार हुआ और उन्हें वहां से रतलाम जिला अस्पताल रैफर किया?
जवाब – मुझे इसकी भी कोई जानकारी नहीं है।
सवाल – हादसे के 5 दिन बाद भी न तो पुलिस ने झुलसे कर्मचारियों का बयान लिए न ही डिपो चेयरमैन रतन जांगिड़ के खिलाफ कार्रवाई नहीं की?
जवाब – जावरा में चेहल्लुम में ड्यूटी की व्यस्तता से जाँच नहीं कर पाया जल्द कार्रवाई करूँगा।

  • बॉयोडीजल डिपो में आग से हुए हादसे की सूचना मिली थी। चूँकि में अभी छुट्टी पर होने से बाहर हूँ। मामले की जांच सहायक उपनिरीक्षक जगदीशचंद्र कुमावत कर रहे हैं। – राकेश मेहरा, चौकी प्रभारी-ढोढर (थाना रिंगनोद)

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

Latest Articles

error: Content is protected by VandeMatram News