अवैध शराब का अंतर्राज्यीय गिरोह : दिल्ली और गुजरात से फैक्ट्रियोंं में पहुंचता था होलोग्राम, लेबल सहित ढक्कन

अवैध शराब का अंतर्राज्यीय गिरोह : दिल्ली और गुजरात से फैक्ट्रियोंं में पहुंचता था होलोग्राम, लेबल सहित ढक्कन

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज। 
जिले में तीन अवैध शराब की फैक्ट्रियों के उजागर होने के बाद रतलाम पुलिस द्वारा जांच में एक अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। गिरोह में शामिल तीन मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद सामने आया कि यह तीनों दिल्ली व गुजरात की फैक्ट्रियों में नकली अंग्रेजी शराब बनाने के लिए होलोग्राम, ढक्कन सहित लेबल सप्लाई करते थे। दिल्ली और गुजरात की इन फैक्ट्रियों को सील कर आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है, जिन्हें पुलिस ने न्यायालय में पेश कर 10 दिन का रिमांड लिया है। 
गौरतलब है कि बिलपांक, रिंगनौद सहित जावरा औद्योगिक क्षेत्र अंतर्गत ग्राम सोहनगढ़ में अवैध शराब की फैक्ट्रियों पर दबिश के बाद पुलिस ने पाया कि इन फैक्ट्रियों में हुबहू अंग्रेजी शराब के होलोग्राम, लेबल एवं ढक्कन कहां से आ रहे हैं। शुक्रवार को एसपी गौरव तिवारी ने पूरे मामले का पर्दाफाश करते हुए पत्रकारों को बताया कि एक अंतर्राज्यीय गिरोह दिल्ली व गुजरात से यह सप्लाय करता है। जांच में पाया गया कि दिल्ली के नांगलोई क्षेत्र में श्री सांई इंटर प्राईजेस के नाम से सुमित पिता श्यामसुंदर माखरिया निवासी रोहणी 2008 से फैक्ट्री संचालित कर रहा है। सुमित माखरिया शराब डिस्लरी से कॉन्ट्रेक्ट मिलने पर ढक्कन बनाकर देता था। रुपयों के लालच में उसके द्वारा इंडिया मार्ट (सोशल एडवरटाइजिंग एजेंसी) के माध्यम से प्रचार-प्रसार कर अवैध शराब बनाने वालों के संपर्क में आया। सुमित साथी पवन कुमार पांडेय पिता हीरालाल पांडेय निवासी वेस्ट दिल्ली के साथ यह अवैध धंधा कर रहा था। इसके अलावा गुजरात स्थित मैसाना निवासी आरोपी पंकज पिता देवीसीबाई बाबरिया भी श्री हरी फैक्ट्री के दस्तावेजों का फर्जी उपयोग कर यह काम कर रहा था। पुलिस की अलग-अलग टीमों ने सुमित, पंकज सहित पवन को गिरफ्तार कर उनके द्वारा संचालित फैक्ट्रियों को सील किया। एसपी गौरव तिवारी के अनुसार फैक्ट्रियों से अलग-अलग ब्रांड के 40 हजार ढक्कन सहित अन्य उपकरण जब्त किए हैं। जांच में सामने आया है कि यह तीनों गिरफ्तार आरोपी रतलाम जिले के अलावा, इंदौर, ग्वालियर, टीकमगढ़ सहित अन्य क्षेत्रों में भी अवैध तरीके से अंग्रेजी शराब की पैकिंग के लिए होलोग्राम, ढक्कन सहित लेबल सप्लाय करते थे। 

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.