कोविड-वैक्सीनेशन महा अभियान : दो दिन में एक लाख टीके लगाने का लक्ष्य, जिले में 205 सेंटर्स पर होगा टीकाकरण

कोविड-वैक्सीनेशन महा अभियान : दो दिन में एक लाख टीके लगाने का लक्ष्य, जिले में 205 सेंटर्स पर होगा टीकाकरण

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
रतलाम जिले में 25 तथा 26 अगस्त को आयोजित होने वाले कोविड-वैक्सीनेशनमहा अभियान की तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। इस दौरान 205 सेंटर्स पर वैक्सीनेशन किया जाएगा। लगभग एक लाख टीके लगाए जाने का लक्ष्य अभियान के दोनों दिनों में तय किया गया है। महा अभियान को लेकर कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने मंगलवार को कलेक्ट्रोरेट में पत्रकार वार्ता में जानकारी दी।
कलेक्टर पुरुषोत्तम ने बताया कि महा अभियान के लिए जिले को वैक्सीन प्राप्त हो चुका है। अभियान में प्रथम तथा द्वितीय डोज लगाए जाएंगे। रतलाम शहर में 12 सेंटर रहेंगे। शहर में लगभग 90 प्रतिशत पात्र व्यक्ति प्रथम डोज लगवा चुके हैं। कलेक्टर ने अपील की है कि छूटे हुए सभी परिचितों तथा अन्य व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने के लिए प्रेरित किया जाए। वैक्सीन के सुखद परिणाम सामने आए हैं। आज बाजार में वही परिदृश्य है जो कोरोना से पूर्व का था, सभी गतिविधियां सुचारू रूप से चल रही है। टीकाकरण में रतलाम अग्रणी जिलों में सम्मिलित है। साप्ताहिक ग्रेडिंग में जिला सदैव टॉप 3 में सम्मिलित रहा है। जिले के नगरीय निकायों में 80 तथा 90 प्रतिशत से लेकर शत प्रतिशत उपलब्धि वाले नगरीय निकाय भी हैं। इस अभियान में जिले के सैलाना तथा बाजना क्षेत्रों में ज्यादा वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित किए जा रहे हैं क्योंकि उन क्षेत्रों में तुलनात्मक रूप से कम वैक्सीनेशन हो पाया है। कलेक्टर ने बताया कि वैक्सीनेशन महा अभियान के लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत पूरे जिले के लिए नोडल अधिकारी हैं। इसके अलावा संबंधित एसडीएम तथा जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी भी अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे। सीईओ जिला पंचायत मीनाक्षीसिंह सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।
61 प्रतिशत पात्र को प्रथम डोज लग चुका
कलेक्टर ने बताया कि अब तक जिले में 6,74,527व्यक्तियों अर्थात लगभग 61 प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को प्रथम डोज वैक्सीनेशन किया जा चुका है। दूसरा डोज 1,30,937 व्यक्तियों को लगाया चुका है। जिले में 2,398 गर्भवती महिलाओं को भी टीके लगाए जा चुके हैं।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.