शासकीय कार्य में बाधा : तीन महिलाओ पर एफआईआर, डॉगवैन से जबरदस्ती छुड़वाए थे श्वान

शासकीय कार्य में बाधा : तीन महिलाओ पर एफआईआर, डॉगवैन से जबरदस्ती छुड़वाए थे श्वान

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
रतलाम शहर के अजंता टॉकीज क्षेत्र में श्वानों को पकड़कर ले जाने से रोकने और पकड़े गए श्वानों को नियम विरुद्ध छुड़वाना तीन महिलाओं को भारी पड़ गया है। निगम के प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी की शिकायत पर शासकीय कार्य में बाधा का प्रकरण स्टेशन रोड पुलिस थाना ने दर्ज किया है।
मालूम हो कि नगर निगम ने श्वानों के बधियाकरण के लिए जयपुर की संतुलन जीव दया कल्याण समिति को अधिकृत किया है। समिति के सदस्य निगमकर्मियों के साथ बुधवार को शहर के अजंता टॉकीज क्षेत्र में रहवासियों की शिकायत पर श्वानों को पकड़ने गए थे। श्वानों को पकड़कर ले जाने के दौरान क्षेत्र की शिल्पा जोशी ने आपरा पति पुष्पेंद्र खंडेलवाल निवासी गुलमोहर कॉलोनी व आशा पति ईश्वर लाल गुप्ता निवासी देवरा देवनारायण नगर को कॉल कर बुलाया। तीनों महिलाओं ने श्वानों को छुड़वाने के लिए समिति के कर्मचारियों व निगम कर्मियों से बहसबाजी की, इतना ही नही श्वानों को भी छुड़वा दिया था। इस दौरान क्षेत्रवासियों की भी बहसबाजी महिलाओं से हुई थी। गुरुवार को निगम के स्वास्थ्य अधिकारी सत्यप्रकाश आचार्य की लिखित शिकायत पर तीनों महिलाओं के खिलाफ 353, 34 के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

यह था पूरा मामला
बुधवार को नसबंदी के लिए अजंता टॉकीज क्षेत्र से नगर निगम की टीम कुछ कुत्तों को पकड़कर ले जा रही थी। इस दौरान टीम से रहवासियों ने कहा की एक माह में 10 से 12 लोगों को कुत्ते काट चुके हैं। सारे पकड़कर ले जाओ। इसके बाद स्थानीय निवासी शिल्पा जोशी सहित अन्य जीव मौके पर आ पहुंचे और कुत्तों को पकड़ने का विरोध करने लगे। रहवासी और मौके पर पहुंची महिलाओं के बीच जमकर विवाद हुआ। हंगामा बढ़ा तो प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी और पुलिस जवानों के साथ स्टेशन रोड थाना प्रभारी किशोर पाटनवाला भी पहुंचे। बावजूद दोनों पक्ष मानने को तैयार नहीं हुए। बहसबाजी के बीच आरोपी तीनों महिलाओं ने गाड़ी में बंद कुत्तों को जबर्दस्ती छुड़वा लिया। रहवासियों के साथ निगम अफसर और थाना प्रभारी देखते रह गए। बाद में गुस्साए क्षेत्र के रहवासियों ने घटनाक्रम की कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम, एसपी अभिषेक तिवारी, आयुक्त सोमनाथ झारिया के नाम लिखित शिकायत कर सख्त कार्रवाई की मांग की गई थी।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.