35 C
Ratlām
Wednesday, April 17, 2024

आक्रोश : सरकार की जन एवं श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ विरोध दिवस

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
राष्ट्रीय स्तर पर सीटू, अ.भा. किसान सभा व अ.भा. खेत मजदूर यूनियन ने आम मुद्दों को लेकर साझी कार्यवाहियां करने का अभियान किया है। हाल ही में दिल्ली में हुई तीनों संगठनों की बैठक में पिछले आह्वानों पर अमल की समीक्षा के साथ आगामी 25 फरवरी 2022 को केन्द्र सरकार के जनविरोधी बजट के साथ भीषण बेरोजगारी व आर्थिक असमानता के खिलाफ विरोध दिवस मनाने का आव्हान किया है। इस विरोध दिवस से शुरू होकर यह संयुक्त अभियान 28-29 मार्च 2022 की राष्ट्रीय हड़ताल तक होगा।
इसी तारतम्य में रविवार को शास्त्री नगर स्थित एमआर यूनियन कार्यालय पर एक बैठक का आयोजन किया गया।  बैठक को जिला सीटू के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने संबोधित करते हुए बताया कि सरकार की जन विरोधी एवं श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ 25 फरवरी को नगर निगम चौराहे पर एकत्रित होकर विरोध दिवस मनाया जाएगा। रैली के रूप में कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा।
सीटू के प्रदेश सचिव एवं जिले के प्रभारी जसविंदर सिंह ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा किसानों के बजट, स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास के बजट में कटौती की गई, वहीं औद्योगिक घराने को लगभग एक लाख करोड़ों की छूट दी गई। इसी के विरोध में 25 फरवरी को अखिल भारतीय विरोध दिवस मनाया जा रहा हैं। सभा को सीटू के महासचिव एमएल नगावत ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर कृष्णा सोनगरा, ललिता गोचर, श्यामा खराड़ी, उषा करेड, मनोहर धवन, रेनू वर्मा, कॉम आशा, देवीलाल, तोलाराम, शोभाराम खराड़ी, कांतिलाल निनामा, संजय व्यास, आशिक अंसारी आदि उपस्थित थे। सभा का संचालन हरीश सोनी ने किया। आभार कमलेश देशमुख ने माना। 

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Copyright Content by VM Media Network