बुजुर्ग वारंटी की गिरफ्तारी और पिटाई से विवादों में फंसी पुलिस, जावरा में भाजपा नेता पुत्र और पुलिस पर दलित परिवार ने लगाए गंभीर आरोप

बुजुर्ग वारंटी की गिरफ्तारी और पिटाई से विवादों में फंसी पुलिस, जावरा में भाजपा नेता पुत्र और पुलिस पर दलित परिवार ने लगाए गंभीर आरोप

रतलाम, वन्देमातरम् न्यूज।
रतलाम जिले के ग्राम इस्लामनगर निवासी एक वृद्ध के साथ पुलिस द्वारा मारपीट के गंभीर आरोपों का वीडियो सुर्ख़ियों में छाया हुआ है। वृद्ध के परिजन ने भाजपा नेता के पुत्र के इशारे पर पुलिस पर प्रतारणा का गंभीर आरोप लगाया है। संगीन आरोप से सत्ताधारी भाजपा की जिला पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव में मुश्किलें बढ़ सकती है।
जिला पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी के कार्यालय में ग्राम इस्लामनगर की भूलीबाई पति रामचंद्र बागरी ने आरोप लगाया कि गांव में जिस जमीन पर वह मकान बना रहे हैं, वहां पर भाजपा नेता प्रदीप चौधरी का बेटा पीयुष चौधरी आया और उसने कहा कि यहां पर मकान मत बनाओं और यह जमीन मुुुुझे दे दो। अगर यहाँ मकान बनाया तो इसे मैं गिरवा दूंगा। इसके बाद औद्योगिक क्षेत्र अंतर्गत हुसैन टेकरी चौकी के पुलिसकर्मी घनश्याम और विक्रम वहाँ पहुंचे और मारपीट की। पुलिस ने इस दौरान एक बेटे प्रकाश को भी मारा जब वह पुलिस की इस हरकत का वीडियों बना रहा था। मारपीट करके पुलिसकर्मी मेरे पति रामचंद्र को उठाकर ले गई और फिर औद्योगिक क्षेत्र थाने के टीआई और हुसैन टेकरी चौकी प्रभारी ने उन्हें इतना मारा की वो बेहोश हो गए, इसके बाद पुलिस ही उन्हे जावरा अस्पताल लाई और गंभीर होने पर रतलाम के जिला अस्पताल के आईसीयू में भर्ती करना पड़ा। महिला ने आरोप लगाया कि करीब 10 घंटे में मेरे पति को होश आया और उन्हे जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष करना पडा। एसपी तिवारी को शिकायत में महिला ने बताया कि यह सब कुछ साजिश के तहत हमारी जमीन हड़पने के लिए भाजपा नेता चौधरी द्वारा करवाया जा रहा है। इस दौरान अस्पताल में भर्ती महिला के पति रामचंद्र बागरी ने पुलिस द्वारा की गई पिटाई के चोट के निशान भी मीडिया को बताए और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। इधर जावरा पुलिस इस मामले में दूसरा दावा कर रही है। मामले में एसपी तिवारी का कहना है कि शिकायतकर्ता महिला भूलीबाई, उसका पति रामचंद्र, बेटा हेमराज और उसकी पत्नी वारंटी है और इन्ही को गिरफ्तार करने पुलिस गई थी, जिसमें परिजनों ने रामचंद्र की गिरफ्तारी का विरोध किया और झुमाझटकी हुई।

पुलिस की मनमर्जी कुछ ऐसी भी
पूरे मामले में जावरा पुलिस गंभीर आरोपों से बचने के लिए पक्ष रख रही है कि वारंटी रामचंद्र को पकड़ लिया और बाकी परिवार फरार हो गया। पुलिस के दावों की पोल तब खुल गई जब यह स्पष्ट हुआ कि जिसे पुलिस वारंटी बता रही है वह महिला भूलीबाई उसका बेटा हेमराज आदि एसपी को शिकायत करने पहुंचे। जब वृद्ध पिता के साथ उसकी माँ और बेटा भी वारंटी फरार थे तो पुलिस ने उन्हें एसपी कार्यालय में शिकायत के दौरान क्यों नहीं गिरफ्तार किया? परिजनों का कहना है कि यदि उनके साथ न्याय नही हुआ तो वे इस मामले में उच्च स्तरीय शिकायत भी करेंगे।

फोटो : भाजपा नेता पुत्र के इशारे पर पुलिस की मारपीट से घायल रामचंद्र बागरी जिला अस्पताल में भर्ती।

आपबीती बताता पीड़ित

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.