आदिवासियों के घर-घर पहुंचेगा राशन, जनजाति गौरव दिवस भी मनाएगें

आदिवासियों के घर-घर पहुंचेगा राशन, जनजाति गौरव दिवस भी मनाएगें

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
प्रदेश सरकार 1 नवंबर से 89 जनजातीय ब्लॉक में हर घर में राशन पंहुचाएगी। आदिवासी जनजातियों को अपना काम छोड़कर अनाज के दुकानों पर आने की जरूरत नहीं है। इसके साथ ही बिरसा मुंडा की जयंती को जनजाति गौरव दिवस के रूप में मनाया जाएगा।
यह बात भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश मंत्री नारायण मईड़ा ने मंगलवार को सर्किट हाऊस पर प्रेसवार्ता में कही।
मईड़ा ने कहा जबलपुर में अजजा वर्ग के सम्मेलन में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अनेक घोषणाए की है जो जनजाति वर्ग के उत्थान में मील का पत्थर साबित होगी। सीएम शिवराजसिंह चौहान ने आदिवासी जननायक बीरसा मुंडा, राजा शंकरशाह, कुंवर रघुनाथ शाह की जैसे वीर सपूत के सम्मान को बढ़ाने का काम किया।
सीएम ने 15 नवम्बर को बिरसा मुंडा  जयंती को जनजाति गौरव दिवस में मनाया जाने का ऐलान किया है। यह संपूर्ण जनजाति समाज के साथ सर्वहारा समाज के लिए गौरव का विषय है। इसके अलावा 1 नवंबर से 89 जनजातीय ब्लॉक में हर घर में  राशन पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि आदिवासी जनजातियों को अपना काम छोड़कर अनाज के  दुकानों पर आने की जरूरत नहीं है।  इसके लिए उनके वाहनों का इस्तेमाल किया जाएगा और हर घर में राशन पहुंचाया जाएगा।
चरणबद्ध तरीके से पेसा एक्ट लागू  होगा
मईड़ा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने चरणबद्ध तरीके से पेसा एक्ट लागू करेगी। पेसा एक्ट के तहत स्थानीय संसाधनों पर स्थानीय अनुसूचित जाति, जनजाति के लोगों की समिति को अधिकार दिए जाएंगे। जिससे अनुसूचित जाति और जनजाति वाली ग्राम पंचायतों को सामुदायिक संसाधन जैसे जमीन, खनिज संपदा, लघु वनोपज की सुरक्षा और संरक्षण का अधिकार मिल जाएगा। इसके अलावा सीएम ने अमर शहीद शंकर शाह और रघुनाथ शाह की याद में म्यूजियम बनाने का भी ऐलान किया है। यह म्यूजियम जबलपुर में बनाया जाएगा। आदिवासियों में फैली सिकल सेल बीमारी के इलाज का खर्च भी राज्य सरकार उठाएगी।  नीट और जेईई की तैयारी करने वाले होनहार छात्रों का खर्च भी राज्य सरकार उठाएगी। इस दौरान अजजा मोर्चे के पूर्व मंत्री मोतीलाल निनामा एवं प्रदेश सह मीडिया प्रभारी शैतानसिंह पटेल उपस्थित रहे।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.