रतलाम-मथुरा पैसेंजर फिर से चलाई जाए, डीआरयूसीसी बैठक में उठाई मांग

रतलाम-मथुरा पैसेंजर फिर से चलाई जाए, डीआरयूसीसी बैठक में उठाई मांग

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
पश्चिम रेलवे रतलाम मंडल के मंडल कार्यालय में मंडल रेल उपभोक्ता सलाहकार समिति की द्वितीय बैठक में यात्री सुविधाओं की पुरजोर मांग की गई। इसमे आम यात्रियों की सुविधा के लिए रतलाम मथुरा पैसेंजर को फिर से चलाई जाए।
मंडल रेल उपभोक्ता सलाहकार समिति के कुल 29 सदस्यों में 22 सदस्य एवं क्षेत्रीय रेल उपभोक्ता सलाहकार समिति के 03 सदस्य उपस्थित हुए ।
मालूम हो कि 1 जनवरी 2020 से 31 दिसंबर 2021 तक के लिए गठित मंडल रेल उपभोक्ता सलाहकार समिति की यह दूसरी द्वितीय बैठक का आयोजन डीआरएम ऑफिस के समिति कक्ष में किया गया। मंडल रेल उपभोक्ता सलाहकार समिति के सचिव एवं वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक एसके मीना द्वारा 2020-21 के लिए गठित मंडल रेल उपभोक्ता सलाकार समिति एवं क्षेत्रीय रेलवे उपभोक्‍ता सलाहकार समिति के सदस्यों का स्वागत किया। इसके बाद वरिष्‍ठ सदस्‍य दिलीप पाटनी द्वारा नीमच-रतलाम खंड के दोहरीकारण कार्य की स्‍वीकृति मिलने के लिए धन्‍यवाद प्रस्‍ताव दिवा। इसका उपस्थित सभी सदस्‍यों द्वारा सर्वसम्‍मति से पारित किया।
अध्‍यक्ष मंडल रेल उपभोक्‍ता सलाहकार समिति एवं मंडल रेल प्रबंधक विनीत गुप्‍ता ने स्‍वागत उद्बोधन में कहा कि कोरोना के दौरान भी रेलवे अपने कार्य को ईमानदारी से करते हुए यात्री परिचालन के साथ ही साथ माल ढुलाई में अहम भूमिका निभाई है। रतलाम मंडल की भूमिका भी सराहनीय रही है। मंडल की उत्‍कृष्‍ट कार्यों के कारण ही रतलाम मंडल को मुख्‍यालय स्‍तर पर वर्ष 2020-21 के लिए आठ दक्षता शिल्‍ड प्राप्‍त हुए हैं। किसानों के हित में कार्य करते हुए रतलाम मंडल पश्चिम रेलवे का प्रथम मंडल रहा है जिसके द्वारा किसान रेल का परिचालन किया गया। वर्तमान में रतलाम मंडल पूरी तरह विद्युतीकृत मंडल हो गया है। रतलाम मंडल के डॉ.आम्बेडकर नगर से सनावद खंड को छोड़कर सभी खंडों का आमान परिवर्तन किया जा चुका है। इस खंड का आमान परिवर्तन कार्य भी प्रक्रियाधीन है। नीमच रतलाम खंड का दोहरीकरण हेतु केन्‍द्रीय कैबिनेट कमेटी द्वारा स्‍वीकृति मिलना रतलाम मंडल की एक बड़ी उपलब्धि है। यह 29 सितम्‍बर,2021 को प्राप्‍त हुई है। मंडल रेल प्रबंधक के स्‍वागत उद्बोधन के उपरांत रतलाम मंडल द्वारा मंडल की उपलब्धियों को पावर पाईंट प्रेजेंटेशन के माध्‍यम से प्रस्‍तुत किया गया।
यह दिए सदस्यों ने सुझाव
इंदौर-नई दिल्‍ली व्हाया फतेहाबाद-रतलाम-नागदा ट्रेन शुरू करने, इंदौर-जयपुर त्रिसाप्‍ताहिक ट्रेन वाया रतलाम, फतेहाबाद-रतलाम खंड पर यात्री गाड़ियों का परिचालन आरंभ करने, ग्‍वालियर रतलाम एवं भिंड रतलाम एक्‍सप्रेस को नीमच स्‍टेशन तक विस्‍तार करने का सुझाव दिया। इसके अलावा रतलाम-मथुरा पैसेंजर को पुन: आरंभ करने, कोटा-नागदा पैसेंजर को रतलाम तक विस्‍तारित करने, सामान्‍य श्रेणी में आरक्षण की व्‍यवस्‍था समाप्‍त की जाए।, वरिष्‍ठ नगारिकों के लिए रियायत पुन: आरंभ करे, साथ ही गाड़ियों के समाप्‍त किए ठहराव को पुन: चालू करने की कार्रवाई हो। इसके अलावा सदस्यों ने महू रतलाम डेमू ट्रेन को चित्‍तौड़गढ़ तक विस्‍तारित करने, इंदौर उदयपुर ट्रेन के सामान्‍य श्रेणी के कोच को अनारक्षित रूप में चलाने, इंदौर जम्मूतवी ट्रेन को व्हाया नीमच-चित्‍तौड़गढ़ चलाने, ट्रेनों में नियमित सफाई करवाने, इनके रख-रखाव हेतु रतलाम के आस-पास पिट लाइन का निर्माण करने, रतलाम स्‍टेशन के लिए रतलाम गुड्स शेड की ओर से नया टू लेन रास्‍ते का निर्माण करने की मांग की गई।
मंडल रेल प्रबंध गुप्ता द्वारा सदस्यों को आश्वस्त किया कि सुझावों पर विचार कर उचित निर्णय लेकर आपको सूचित किया जाएगा।
ये सदस्य मौजूद रहे
मंडल रेल उपभोक्‍ता सलाहकार समिति की बैठक में मनोज चौधरी, दिलीप पाटनी, राजदीप परवाल, विशाल गिदवानी, कांतिलाल छाजेड़, अर्चित डागा, जितेन्‍द्र कटारिया, राजेन्‍द्र जैन, गोविन्‍द पोरवाल, संजय बाकलीवाल, गौहर मोहम्‍मद, डॉ. ओमप्रकाश खंडेलवाल, दौलतराम मीना, अनिल मूथा, विशाल राजोरिया, अनिता राजमल जैन, बलवंत सिंह भाटी, डॉ परागभाई पंड्या, श्री गोपाल दास अग्रवाल, सिद्धार्थ संजय शुक्‍ला, विलासभाई छिबुभाई पटेल, मिधुनराज ओट्टकंदन शामिल हुए। नवगठित मंडल रेल उपभोक्ता सलाहकार समिति के 29 सदस्यों में से 22 सदस्य शामिल हुए। क्षेत्रीय रेल उपभोक्‍ता सलाहकार समिति के सदस्‍यों में हरीशचंद्र कलाल, शिवलहरी शर्मा एवं प्रकाश त्रिवेदी शामिल हुए।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.