सटोरियों का पनाहगार रेलवे : रतलाम रेलमंडल का स्टेशन और कॉलोनियां भी जुआरियों और सटोरियों के गिरफ्त में, बदमाशों ने जगह-जगह बनाए अड्डे

सटोरियों का पनाहगार रेलवे : रतलाम रेलमंडल का स्टेशन और कॉलोनियां भी जुआरियों और सटोरियों के गिरफ्त में, बदमाशों ने जगह-जगह बनाए अड्डे

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
रतलाम शहर सहित अंचल के अलावा गुंडे-बदमाशों ने रेलमंडल मुख्यालय का रतलाम रेलवे स्टेशन सहित कॉलोनियों में जुआ और सट्टों का अड्डा बना दिया है। जिम्मेदारों से सांठगांठ कर बदमाश बड़े पैमाने पर जुए की टेबलें चलाने के अलावा सट्टे की पर्चियां भर रहे हैं। इसके बाद भी रेलवे की इंटेलीजेंस एजेंसी सोई हुई है। जीआरपी थाने और चौकी के नाक के नीचे वाहन और साइकिल स्टैंड पर प्रतिदिन बड़े पैमाने पर सट्टा उतर रहा है वहीं कॉलोनियों में बड़े-बड़े जुआरी डेरा डाले हुए हैं। रेलकर्मी और उनके परिवारों की सुरक्षा को लेकर वंदेमातरम् न्यूज पूरे मामले में हिस्ट्रीशीटर बदमाशों की सूची जारी कर रहा है जिसमें स्पष्ट है कि कौन कहां पर अवैध गतिविधियां संचालित करवा रहा।
बता दें कि रेलवे स्टेशन क्षेत्र में बड़े पैमाने पर सट्टा संचालित होने की सूचना पर एक वर्ष पूर्व तत्कालीन एसपी गौरव तिवारी ने दबिश के लिए टीम भेजी थी। टीम में शामिल उपनिरीक्षक अनुराग यादव के साथ बेखौफ असामाजिक तत्वों ने झूमाझटकी को भी अंजाम दिया था। उच्चाधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद गुंडे-बदमाशों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ था। रेलवे स्टैंड पर ही कुछ माह पूर्व एटीएस (एंटी टेरीरिस्ट स्क्वॉड) जवानों के साथ भी बदमाशों ने खुलेआम मारपीट की वारदात कर चुके हैं जो कि सीसीटीवी कैमरे में कैद होने के बाद वायरल भी हुए थे। इतना सब कुछ होने के बाद भी रेलवे और जिला पुलिस के सामांजस्य की कमी के चलते बेखौफ बदमाश उसी क्षेत्र में अवैध गतिविधियां संचालित करने में जुटे हैं। जीआरपी और आरपीएफ की नाकामी के चलते शहर के बदमाशों का रेलवे स्टेशन और रेलवे कॉलोनी क्षेत्र पनाहगार बन चुका है। वरिष्ठ अधिकारियों तक मामला पहुंचने के बाद भी सख्त कार्रवाई नहीं होना कार्यप्रणाली पर संदेह उपजा रहा है।

कौन कहां संचालित कर रहा सट्टा

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.