सनसनी लूट का खुलासा : वारदात को अंजाम देने वाले 11 आरोपी गिरफ्तार, 1 आरोपी फरार

सनसनी लूट का खुलासा : वारदात को अंजाम देने वाले 11 आरोपी गिरफ्तार, 1 आरोपी फरार

रतलाम, वन्देमातरम् न्यूज।
फ़िल्मी स्टाइल में सराफा व्यापारी की कार ओवरटैक कर तीन दिन पूर्व करमदी रोड पर सरेराह 9 लाख रुपए नकदी सहित सोने के आभूषण की लूट की सनसनी वारदात का खुलासा हो गया है। नवागत एसपी अभिषेक तिवारी ने शुक्रवार सुबह पत्रकारवार्ता में इसकी पुष्टि की है। एसपी तिवारी के अनुसार लूट की सनसनी वारदात को 12 आरोपियों की शातिर गैंग ने अंजाम दिया था, जिसमें से 11 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं और 1 आरोपी फरार है।
एसपी तिवारी के अनुसार वारदात में आरोपी अजय उर्फ अज्जू द्वारा पूछताछ में बताया की उसके परिचित यशवंत उर्फ युग निवासी बालाजी नगर ने उसे जानकारी दी थी की उसके घर के सामने रहने वाला फरियादी सराफा व्यापारी प्रियेश शर्मा सोने-चांदी का व्यापार करता है। व्यापारी शर्मा ऑर्डर पर सोने-चांदी के गहने बनाकर अपनी गाड़ी स्विफ्ट से ड्राईवर के साथ अकेला बाहर आता जाता रहता है। आरोपियों ने उसकी रेकी कर हथियार के दम पर डरा धमका कर पैसे लूटने का षड्यंत्र रचा। गिरोह में शामिल आरोपी कार्तिक उर्फ शेलू पिता रामप्रसाद पाटीदार (उम्र 22) निवासी करमदी रोड, सुनिल उर्फ श्याम पिता भागीरथ मचार (उम्र 22) निवासी होमगार्ड कालोनी, तरुण पिता कमल पडियार (उम्र 21) निवासी होमगार्ड कॉलोनी, मोहित पिता राजेश राठौर (उम्र 22) निवासी मालीकुआ, विशाल पिता कन्हैयालाल धाकड (उम्र 21) निवासी बांगरोद थाना नामली, कुलदीप पिता दिनेश जाट (उम्र 22) निवासी धमोत्तर चौकी बांगरोद थाना नामली, नारायण उर्फ डेविड पिता रमेश धाकड (उम्र 21 ) निवासी बांगरोद थाना नामली, भावेश पिता ललित द्विवेदी उम्र 20 साल रतलाम थे ।

जप्त कार व मोटरसाइकिल.

शातिर आरोपियों ने ऐसे दिया वारदात को अंजाम

गिरोह में शामिल शातिर आरोपियों के खिलाफ पूर्व में भी आपराधिक प्रकरण दर्ज है। इस सराफा व्यापारी शर्मा के साथ वारदात को अंजाम देने के लिए एक पिस्टल आरोपी कार्तिक पाटीदार व एक पिस्टल आरोपी अजय उर्फ अज्जू लेकर आया था। आरोपी कान्हा उर्फ जितेन्द्र पिता भंवरलाल जाट भी अलग से एक पिस्टल लाए थे ।
आरोपी कुलदीप जाट ने 2 फोरव्हीलर गाड़ी (स्विफ्ट डिसाइर MP-45 C-2901) एवं मैंरून रंग की (मारुति सियाज़ MP-04 KG-3447 ) की व्यवस्था की थी ।
रेकी हेतु मोटर साइकल का प्रयोग किया गया, योजना मुताबिक सोमवार को रात करीबन 10 बजे आरोपी करमदी में मिले और षड्यंत्र के मुताबिक सियाज़ गाड़ी में 5 आरोपी करमदी चौराहे पर खडे हुए और कार्तिक की होंडा शाइन मोटर साइकल पर आरोपी भावेश व तरुण परिहार को सालाखेड़ी तरफ रोड पर नज़र रखने के लिए भेजा गया । सिल्वर रंग की स्विफ्ट गाड़ी में 5 आरोपी बैठे कर जैन मंदिर इमली के पेड़ के नीचे खड़े होकर फोन पर इशारा मिलने का इंतिज़ार करने लगे। जैसे ही मोटर साइकल वाले ने गाड़ी आने की सूचना दी आरोपीओ ने अपनी गड़िया फरियादी प्रियेश शर्मा की गाइड के आगे और पीछे लगा दी। फरियादी प्रियेश की गाड़ी रुकने पर सभी आरोपी अपनी गाड़ी से उतरे और फरियादी प्रियेश के गाड़ी के काँच तोड़ दिये और और प्रियेश के सिर के पास पिस्टल अड़ा कर उसक बैग छुड़ा लिया और बैग मिलने के बाद सब लोग तुरंत अपनी गाड़ी में बैठ कर करमदी गाँव से रानीसिंह गाँव की ओर भागे थे। गिरफ्तार आरोपियों से लूट की राशि बरामद करने के साथ सोने के आभूषण भी बरामद किए हैं। उक्त प्रकरण में एक फरार आरोपी कान्हा जाट की पुलिस को तलाश है।

आरोपियों से जप्त पिस्टल, नगदी व अन्य

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.