शर्मनाक : सांई श्री हॉस्पिटल में बीमार भर्ती बच्ची को बाहर निकाला, डॉक्टर बोले परिजन नहीं कर रहे थे प्रोटोकॉल का पालन

शर्मनाक : सांई श्री हॉस्पिटल में बीमार भर्ती बच्ची को बाहर निकाला, डॉक्टर बोले परिजन नहीं कर रहे थे प्रोटोकॉल का पालन

रतलाम, वंदे मातरम् न्यूज।
रतलाम शहर के अस्सी फीट रोड स्थित सांई श्री हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर पर शुक्रवार सुबह करीब 10 बजे भर्ती बच्ची के परिजन और अस्पताल प्रबंधक के बीच जमकर विवाद हुआ। विवाद का कारण परिजन की ओर से बताया जा रहा है कि अस्पताल प्रबंधन ने उनके साथ अभद्रता कर डेंगू से पीड़ित 12 वर्षीय भर्ती बच्ची को ड्रिप उतारकर बाहर निकाल दिया, जबकि अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि भर्ती बच्ची के परिजन प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे थे।
उपाचररत भर्ती 12 वर्षीय मेघा को सांई श्री हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर से ड्रिप उतारकर बाहर जमीन पर ले जाकर बैठा देने के मामले में पिता संजय माली ने अस्पताल प्रबंधक और डॉ. अमित कुशवाह के खिलाफ नामजद औद्योगिक थाने पर शिकायत की है। संजय माली ने वंदेमातरम् न्यूज को बताया 13 अक्टूबर को वह अपनी पुत्री मेघा को उपाचर के लिए सांई श्री हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर लेकर आए थे। जांच उपरात उसे डेंगू की पुष्टि के बाद डॉ. अमित कुशवाह की सलाह पर उनके हॉस्पिटल में भर्ती किया था। शुक्रवार सुबह संजय माली नाश्ता लेकर जब हॉस्पिटल में भर्ती बच्ची से मिलने पहुंचे तो डॉ. अमित कुशवाह उनके साथ अभद्रता करने लगे। संजय माली ने बोला कि वह और उनके परिजन बच्ची से मिलने आए हैं, उसे देखकर अभी वापस चले जाएंगे। शिकायतकर्ता संजय माली का आरोप है कि डॉ. अमित कुशवाह ने उनके अलावा परिवार के अन्य सदस्यों के साथ अभद्रता कर काफी बुरा-भला कहा। इसके बाद भर्ती बच्ची मेघा की ड्रिप निकालकर उसे गेट के बाहर बैठा दिया। मामले में सांई श्री हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के डॉ. अमित कुशवाह ने बताया कि भर्ती बच्ची मेघा के परिजन प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे थे। डॉ. अमित कुशवाह से सवाल किया गया कि प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने पर आप किसी भी भर्ती बीमार बच्चे को ड्रिप निकालकर बाहर कैसे निकाल सकते हैं? इस सवाल का कोई जवाब नहीं दे सके।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.