सीआईडी आरक्षक के खिलाफ एसपी ऑफिस पहुंचे विद्यार्थी, झूठे प्रकरण में फसाने का लगाया गंभीर आरोप

सीआईडी आरक्षक के खिलाफ एसपी ऑफिस पहुंचे विद्यार्थी, झूठे प्रकरण में फसाने का लगाया गंभीर आरोप

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
कोचिंग संचालित कर रहे एक सीआईडी आरक्षक के खिलाफ बड़ी संख्या में सोमवार को विद्यार्थी एसपी ऑफिस पहुंचे। यहां पर विद्यार्थियों ने एसपी गौरव तिवारी से मिलकर पुलिस की विशेष शाखा (सीआईडी) में आरक्षक पद पर तैनात धर्मेंद्रसिंह राजपूत के खिलाफ शिकायत की। पूरा मामला प्रतियोगी परीक्षा की कोचिंग संचालन से जुड़ा हुआ है।
विद्यार्थियों ने एसपी तिवारी को बताया कि आरक्षक धर्मेंद्र सिंह कोचिंग केंद्र की महिलाकर्मी के साथ मिलकर दूसरी कोचिंग के संचालनकर्ताओ पर झूठा केस करके फंसाने का षड़यंत्र रच रहे हैं। छात्रों ने एसपी को चेंबर में पूरे मामले से अवगत कराया। एसपी ने छात्रों को अच्छे से पढ़ाई कर बेहतर भविष्य बनाने की समझाइश के साथ ही पूरे मामले की जांच करते हुए समस्या के निराकरण का आश्वासन दिया। एसपी तिवारी ने वन्देमातरम् न्यूज को बताया की आरक्षक के खिलाफ छात्र आवेदन देने आए थे। शिकायत के आधार पर एसपी (विशेष शाखा, भोपाल) को मामले से अवगत करा दिया है। एसपी के अनुसार पूर्व में भी आरक्षक धर्मेंद्र सिंह की शिकायत प्राप्त हुई थी और मामले में दोनों पक्षों में समझौता भी हुआ था।

एसपी कार्यालय के बाहर बैठे विद्यार्थी।

प्रतिस्पर्धा में आरक्षक ने पद का दिखाया रूतबा
विद्यार्थियों ने वंदेमातरम् न्यूज से चर्चा के दौरान बताया सीआईडी में आरक्षक धर्मेंद्रसिंह राजपूत द्वारा धभाई जी का वास में टारगेट पॉइंट नाम से कोचिंग का संचालन किया जाता है। वहीं पर पूर्व में पढ़ाने वाले शिक्षक रोशन सरगरा, राहुल परमार व गायत्री पाटीदार ने अपनी अलग कोचिंग खोली, जिससे आरक्षक धर्मेंद्र सिंह को आपत्ति हुई। धर्मेंद्र द्वारा इन तीनों को अपनी सहकर्मी द्वारा झूठे केस में फंसाने की धमकी लगातार दी जा रही है। नियमानुसार सरकारी कर्मचारी नौकरी के अलावा अन्य किसी तरह का कार्य एवं व्यवसाय नहीं कर सकता जिससे उसे धन प्राप्त हो। सूत्रों के अनुसार कोचिंग संचालन करते हुए आरक्षक धर्मेंद्र सिंह ने लाखों रुपए की कमाई नियम विपरित की है जो कि अब विभागीय जांच का विषय है।
विद्यार्थियों ने आरक्षक पर लगाए यह गंभीर आरोप
विद्यार्थियों ने आरोप लगाए की धर्मेंद्र सिंह की कोचिंग छोड़ने के बाद सभी राहुल, रोशन व गायत्री की कोचिंग पर पढ़ने जाने लगे। इस बात पर आरक्षक धर्मेंद्र सिंह ने विद्यार्थियों का रास्ता रोककर वापस अपने यहां कोचिंग आने के लिए भी धमका चुका है। धर्मेंद्र सिंह ने विद्यार्थियों के परिजन को यह भी बोला कि मैं पुलिस में हूँ। मैं इनकी नोकरी लगवा सकता हूँ तथा मेडिकल भी पास करवा सकता हूँ। जब इससे भी बात नहीं बनी तो अब धर्मेंद्र सिंह ने कोचिंग की महिलाकर्मी द्वारा झूठे आरोप में नए कोचिंग संचालक रोशन व राहुल सर को फसाने का षड़यंत्र रचकर स्टेशन रोड थाना और अजाक थाने पर झूठी शिकायत कर रहे हैं।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.