35 C
Ratlām
Wednesday, April 17, 2024

प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता, विद्यार्थियों को बताएं सफलता के सूत्र

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
शासकीय कला एवं विज्ञान महाविद्यालय, रतलाम में स्वामी विवेकानंद करियर मार्गदर्शन योजना के अंतर्गत “यूपीएससी/ पीएससी परीक्षाओं में सफलता के सूत्र” विषय पर ऑनलाइन व्याख्यान का आयोजन किया गया। व्याख्यान में प्रो. शैलेंद्र पिपरिया, सहायक प्राध्यापक, शासकीय महाविद्यालय, सैलाना मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थे। अध्यक्षता महाविद्यालय प्राचार्य एवं संरक्षक डॉ. संजय वाते ने की।
मुख्य वक्ता प्रो. पिपरिया ने व्याख्यान के प्रथम भाग में विद्यार्थियों को सर्वप्रथम लक्ष्य निर्धारित करने और परीक्षाओं की तैयारी में आने वाले उतार – चढ़ाव के दौरान हमेशा मनोबल ऊंचा रखने, कभी हार ना मानने वाले दृष्टिकोण, सदैव आशावादी रहने एवं अध्यवसाय जैसे गुणों को आत्मसात करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता, इन परीक्षाओं में सफलता चाहते हैं तो आपको अनुशासन जीवन, समय प्रबंधन के साथ कठिन परिश्रम से तपना ही होता है।
व्याख्यान के दूसरे भाग में उन्होंने संघ लोक सेवा आयोग एवं मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षाओं की रूपरेखा, उनके प्रश्न पत्रों, उनके अंक विभाजन एवं साक्षात्कार के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की। उन्होंने इस परीक्षा में सफलता के लिए सही मार्गदर्शक चयन की भूमिका को समझाया, जिससे अभ्यर्थी सही पाठ्य सामग्री का चुनाव कर एवं लक्ष्य केंद्रित होकर शीघ्र ही सफलता प्राप्त कर सकते है।
उन्होंने बहुत सारे विद्यार्थियों के द्वारा पूछे गए प्रश्नों एवं जिज्ञासाओं का समाधान किया। प्राचार्य डॉ. वाते ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहां कि इन परीक्षाओं में सफलता समर्पण और कठिन परिश्रम से ही प्राप्त हो सकती है। विद्यार्थी अपना लक्ष्य निर्धारित कर योजनाबद्ध तरीके से तैयारी करें। कार्यक्रम का संचालन ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट अधिकारी प्रो. दिनेश बौरासी ने किया। आभार प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ स्वाति पाठक ने माना।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Copyright Content by VM Media Network