सराफा व्यापारी की आंखों मे मिर्ची फेंक लूट करने वाले दो अभियुक्त को 6 वर्ष का सश्रम कारावास

- Advertisement -

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
एक दशक पूर्व पंचेड़ मार्ग पर सराफा व्यापारी की आँख में मिर्च फेंक लूट करने वाले 2 आरोपियों को न्यायालय ने 6 वर्ष का सश्रम कारावास और अर्थदंडित किया।
न्यायाधीश शैलेश भदकारिया ने महत्वपूर्ण फैसला सुनाया।
प्रकरण के पैरवीकर्ता अपर लोक अभियोजक प्रवीण शर्मा ने बताया अभियुक्त कमलेश पिता धन्नलाल पाटीदार उम्र 32 वर्ष नि. ग्राम बरगढ जिला रतलाम एवं राकेश पिता रामगिरी गोस्वामी उम्र 30 वर्ष नि. नागदा जिला उज्जैन को धारा 394 भादवि मे 06-06 वर्ष का कठोर कारावास एवं 2000-2000 रुपए अर्थदण्ड से दंडित किया।
अभियोजन मीडिया सेल प्रभारी शिव मनावरे के अनुसार अभियुक्तों ने 20 जनवरी 2011 को फरियादी सराफा व्यापारी नितिश पिता कृष्णचंद सोनी नि.ग्राम धामनोद के साथ ग्राम पंचेड मार्ग पर शाम करीब 6.45 बजे वारदात को अंजाम दिया था। फरियादी के साथ हुई लूट के बाद नामली पुलिस ने जाँच कर तीन आरोपियों को बिना नम्बर की मोटरसाइकल पल्सर पर आकर वारदात को अंजाम देना पाया था। फरियादी की मोटरसाइकल पर टंगी थैली में रखे 57000 हजार रुपए थे, जिसे आरोपी छीनकर नामली तरफ भागे थे। फरियादी द्वारा बताई घटना से थाना नामली पर अपराध क्रमांक 14/11 धारा 394 भादंवि लूट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना प्रारम्भ की गई। विवेचना के दौरान पुलिस ने तीन आरोपी कमलेश पिता धन्नालाल,नि. बरगढ जिला रतलाम एवं पप्पू पिता रेवन्त उम्र 34 वर्ष नि. नागदा जिला उज्जैन तथा राकेश पिता रामगिरी नि. नागदा जिला उज्जैन को गिरफ्तार कर पूछताछ की थी। तीनों ने लूट की वारदात को अंजाम देना कबूली थी। इस घटना में उनके साथी दीपक पिता रामगिरी गोस्वामी उम्र 26 वर्ष नि. नागदा जिला उज्जैन, जग्गू उर्फ जगदीश पिता रेवन्त उम्र 22 वर्ष नि. नागदा जिला उज्जैन, सोहनलाल पिता कन्हैयालाल नि. जाहगिरीया जिला मंदसौर तथा गोपाल पिता रतनलाल पाटीदार उम्र 26 वर्ष नि. बरगड जिला रतलाम भी शामिल रहे और उन सभी ने लूटे रुपए आपस में बाँट लिए थे। आरोपीगणों द्वारा दी गई उक्त जानकारी पर से पुलिस ने उक्त चारो आरोपीगणों को भी 17 मार्च को 2011 को गिरफ्तार किया था। आरोपीगणों से अपराध में प्रयुक्त की गई पल्सर मोटरसाइकिल व लूटे रुपयों में से बचे हुए रूपये जप्त कर अनुसंधान उपरान्त अभियोग पत्र सातों आरोपीगणों के विरूद्ध धारा 394,120बी भादवि में न्यायालय में प्रस्तुत किया था।
विचारण के दौरान एक आरोपी गोपाल पिता रतनलाल की मृत्यु हो जाने से उसके विरूद्ध कार्यवाही समाप्त की गई। विचारण उपरांत न्यायालय ने दो अरोपी कमलेश पिता धन्नालाल व राकेश पिता रामगिरी के विरूद्ध साक्ष्य प्रमाणित होने से दोषसिद्ध किया एवं बाकी अन्य चार आरोपीगणों को साक्ष्य प्रमाणित नहीं पाये जाने से दोषमुक्त किया।

- Advertisement -

Related articles

ऐसी लापरवाही : पूरे वर्ष काम नहीं किया, बैठक से भी नदारत सचिव हो गया सस्पेंड

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।रतलाम जिला पंचायत सीईओ जमुना भिड़े ने जनपद पंचायत सैलाना की ग्राम पंचायत कुआझागर के सचिव...

सेवा का सम्मान : महेंद्र गादिया जैन विभूति की उपाधि से सम्मानित, जैन सोशल ग्रुप इंटरनेशनल फेडरेशन ने दिया सम्मान

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।जैन सोशल ग्रुप इंटरनेशनल फेडरेशन द्वारा सकल जैन श्री संघ, जैन हेल्पलाइन व सोशल ग्रुप रतलाम...

मुख्यमंत्री का माना आभार : पूर्व महापौर शैलेंद्र डागा ने नजूल एनओसी की अनिवार्यता समाप्त करने के निर्णय का किया स्वागत, विभाजित प्लाट मामले...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।नए साल से बिल्डिंग परमिशन के लिए लगने वाली नजूल एनओसी की अनिवार्यता को समाप्त करने...

चौथी बार सड़क पर उतरे कलेक्टर : भाजपा नेता की भी नहीं चली, रेलवे की सीमा पर अतिक्रमण नहीं हटाने के लिए आगे आए...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।रतलाम शहर में ट्रैफिक सुधार को लेकर अतिक्रमण मुहिम लगातार जारी है। सोमवार को अतिक्रमण मुहिम...
error: Content is protected by VandeMatram News