परम्परा महोत्सव की : आखिर क्यों क्रोधित हुए थे देवराज इंद्र, साहू बावड़ी के महाराज को लगाया 56 भोग

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
दीपोत्सव बाद देवालयों में अन्नकूट महोत्सव की शुरुआत हो चुकी है। विभिन्न प्रकारों के पकवानों के भोग से देवालय महकनें के साथ भक्ति के रंग में डूब चुके हैं। शहर के प्राचीन साहू बावड़ी स्थित महाराज (श्री हनुमान मंदिर) पर विधि-विधान पूर्वक हर्षोल्लास से अन्नकूट महोत्सव मनाया गया। मंहत मुन्नालाल के सान्निध्य में महोत्सव में महापौर प्रहलाद पटेल सहित बड़ी संख्या में भक्तों ने हिस्सा लिया। 

भक्त मंडल के अनिल बोराना ने बताया कि हनुमानजी को विभिन्न प्रकारों के 56 व्यंजनों का भोग लगाकर महाआरती की गई। महाआरती में शामिल बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने देवालय को जयश्री राम के घोष से गूंजा दिया। इसके बाद भक्तों को प्रसादी वितरण का दौर शुरू हुआ। 

इस मौके पर एमआईसी मेंबर दिलीप गांधी, सुभाष जैन, राकेश मिश्रा सहित आदि भक्त बड़ी संख्या में मौजूद थे। माणकचौक स्थित गोपालजी का बड़ा मंदिर में विधि विधान पूर्वक भगवान को 56 भोग लगाकर महाआरती की गई। इसकेपूर्व भगवान का अभिषेक कर आकर्षक श्रृंगार भी किया गया।  इसी प्रकार सैलाना रोड स्थित श्री राम मंदिर में भी अन्नकूट महोत्सव की भी धूम देखी गई।

क्या मान्यता है शास्त्रों में महोत्सव की 
शास्त्रों के अनुसार दीपावली के अगले दिन गोवर्धन पर्व मनाया जाता है। यह इसलिए मनाया जाता है क्योंकि श्री कृष्ण ने जब वृंदावनवासियों को इंद्रदेव के स्थान पर गोवर्धन पर्वत की पूजा करने की सलाह दी तो सभी ने उनकी बात मान ली। यह जानकर देवराज इंद्र क्रोधित हुए और उन्होंने मूसलधार बारिश शुरू कर दी। तब श्री कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी अंगुली पपर उठाकर छाते सा तान दिया था। लगातार सात दिन और सात रात तक गांव वाले गोवर्धन पर्वत के नीचे बैठे रहे थे। तब से इंद्र को अपनी गलती का अहसास हुआ और उन्होंने श्री कृष्ण से क्षमा मांंगी। इसके बाद प्रतिवर्ष कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा तिथि पर गोवर्धन पर्वत की पूजा कर अन्नकूट महोत्सव मनाया जाता है।  

Author

  • Aseem Raj Pandey

    वर्ष-2000 से निरतंर पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय। विगत 22 वर्षों में चौथा संसार, साभार दर्शन, दैनिक भास्कर, नईदुनिया (जागरण) सहित अन्य समाचार-पत्रों और पत्रिकाओं में विभिन्न दायित्वों का निर्वहन किया। पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय रहते हुए वर्तमान में समाचार पोर्टल वंदेमातरम् न्यूज के प्रधान संपादक की भूमिका का निर्वहन। वर्ष-2009 में मध्यप्रदेश सरकार से जिलास्तरीय अधिमान्यता प्राप्त पत्रकार के अलावा रतलाम प्रेस क्लब के सक्रिय सदस्य। UID : 8570-8956-6417 Contact : +91-8109473937 E-mail : asim_kimi@yahoo.com

Aseem Raj Pandey
Aseem Raj Pandeyhttp://www.vandematramnews.com
वर्ष-2000 से निरतंर पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय। विगत 22 वर्षों में चौथा संसार, साभार दर्शन, दैनिक भास्कर, नईदुनिया (जागरण) सहित अन्य समाचार-पत्रों और पत्रिकाओं में विभिन्न दायित्वों का निर्वहन किया। पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय रहते हुए वर्तमान में समाचार पोर्टल वंदेमातरम् न्यूज के प्रधान संपादक की भूमिका का निर्वहन। वर्ष-2009 में मध्यप्रदेश सरकार से जिलास्तरीय अधिमान्यता प्राप्त पत्रकार के अलावा रतलाम प्रेस क्लब के सक्रिय सदस्य। UID : 8570-8956-6417 Contact : +91-8109473937 E-mail : asim_kimi@yahoo.com

Related articles

दो माह बाद भी पिता मौत के कारणों से अंजान : मजिस्ट्रियल जांच पूरी, परिजन काट रहे अफसरों के चक्कर

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।दो माह पूर्व छात्रावास की दो छात्राओं की मौत की भले ही मजिस्ट्रियल जांच पूरी हो...

यह अंदर की बात है! “नट्टू काका” की जादूगरी से सुर्खियों में नगर सरकार, ऐसी भी वर्दी कुछ नहीं तो 50-50 रुपए से चला...

असीम राज पांडेय, केके शर्मा, जयदीप गुर्जररतलाम। नई नवेली नगर सरकार में इन दिनों "नट्टू काका" खासे सुर्खियों...

खूनी संघर्ष में युवक की हत्या: सोशल मीडिया पर कमेंट्स बना विवाद का कारण,  मृतक के शव का आज होगा पोस्टमार्टम

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।जिला मुख्यालय के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र शिवगढ़ में सोशल मीडिया पर कमेंट्स को लेकर दो पक्षों...

स्पेशल चैकिंग अभियान : बगैर टिकट रेल यात्रा अब पड़ेगी महंगी, पहले दिन रेलवे ने 197 यात्रियों से वसूले 70 हजार से अधिक

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।रतलाम रेल मंडल के वाणिज्‍य विभाग की स्पेशल चैकिंग से बगैर टिकट यात्रा कर रहे यात्रियों...
error: Content is protected by VandeMatram News