मनमानी : सीएम हेल्पलाइन में शिकायतों पर गंभीर नहीं, 27 अधिकारी-कर्मचारियों को निगमायुक्त का नोटिस

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
शहरवासियों को मूलभूत सुविधाओं को जुटाने वाले नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारी निरंतर मनमानी बरते हुए हैं। स्थानीय स्तर पर सुनवाई नहीं होने के बाद सीएम हेल्पलाइन में शिकायत को मजबूर आमजनता की सुनवाई नहीं करने वालें ऐसे 27 अधिकारी-कर्मचारियों के खिलाफ नगर निगम आयुक्त सोमनाथ झारिया ने नोटिस जारी करते हुए आगामी स्तर पर सख्त कार्रवाई के संकेत दिए।
नगर निगम में कार्यालय समय पर फील्ड में होने की बात कहकर निजी कार्यों में संलग्न रहने वाले अधिकारी-कर्मचारियों की मनमानी अब निगमायुक्त झारिया के सामने आने लगी है। 20 नवंबर को सीएम हेल्पलाइन की ग्रेडिंग होने के बावजूद अभी तक नगर निगम स्तर पर 333 शिकायतों का पैडिंग होना जिम्मेदारों की मनमानी दर्शा रहा है। नगर निगम आयुक्त झारिया ने अलग-अलग विभागों के अधिकारी-कर्मचारियों की मनमानी को देखते हुए शनिवार को जारी किए नोटिस में स्पष्ट हिदायत दी है कि सूचना-पत्र मिलने के बाद भी कार्य में लापरवाही बरती तो स्थायी कर्मचारियों की एक-एक वेतनवृद्धि रोकी जाएगी और दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को सेवा से बर्खास्त किया जाएगा।
इन अधिकारी-कर्मचारियों की लापरवाही पर मिले नोटिस
आयुक्त झारिया के हस्ताक्षर से जारी नोटिस में सिटी इंजीनियर मोहम्मद हनीफ शेख, सहायक आयुक्त ज्योति सुनारिया, प्रभारी सहायकयंत्री सत्यप्रकाश आचार्य, अरविंद दशोत्तर, उपयंत्री राजेंद्र मिश्रा, सुहाष पंडि़त, भैयालाल चौधरी, मनीष तिवारी, राजेश पाटीदार, ब्रजेश कुशवाह, अनीता ठाकुर, दीक्षा निजामपुरकर, जोन प्रभारी एपी सिंह, पर्वत हाड़े, किरण चौहान, विनय चौहान, उद्यान पर्यवेक्षक धमेंद्र दोगाया, क्लर्क रामचंद्र शर्मा, अब्दुल मुजीब खान, राजेंद्रसिंह गेहलोत, सहायक राजस्व निरीक्षक सुनील कपूर, हरीश मिश्रा, सहायक राजस्व उपनिरीक्षक अंजनीप्रसाद मिश्रा, फायरमैन देवेंद्र पुरोहित, स्थायीकर्मी कुलदीप भट्ट, दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी मोहित हितिया के नाम शामिल हैं।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.