27.6 C
Ratlām
Sunday, June 23, 2024

हथियार गिरोह का पर्दाफाश : पुलिस ने की 8 अवैध पिस्टल जप्त, देर रात एक महिला भी गिरफ्तार

रतलाम, वन्देमातरम् न्यूज।
रतलाम पुलिस ने अवैध रूप से पिस्टल सप्लाई के मामले में एक गिरोह का खुलासा करते हुए 11 आरोपियों को गिरफ़्तार किया। आरोपियों के पास से 1 लाख 30 हजार रुपए की 8 पिस्टल व 11 कारतूस जप्त किए। गिरोह में शामिल आरोपियों पर पूर्व से गम्भीर धाराओ में विभिन्न थानों पर प्रकरण भी दर्ज है जबकि दो मुख्य सप्लायर अब भी फरार है। फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने 5-5 हजार का ईनाम घोषित किया।
सोमवार को एसपी गौरव तिवारी ने प्रेस वार्ता में बताया की रविवार को मुखबिर की सूचना पर माणक चौक पुलिस ने गांव करमदी स्थित नमकीन क्लस्टर से सुनील उर्फ सोनू पिता जगदीश निवासी झिंझोटा जिला धार को 1 पिस्टल और 1 कारतूस के साथ गिरफ़्तार किया था। आरोपी सुनील उर्फ सोनू से पूछताछ के दौरान उसने अविनाश उर्फ अर्जुन निवासी सिंघाना जिला धार से 7 पिस्टल खरीदना बताया। इसके बाद सुनील ने 1 पिस्टल अपने पास रखकर बचे हुए 2 पिस्टल व 3 कारतूस सुरेश उर्फ सूर्या पाटीदार निवासी बिरमावल, 2 पिस्टल व 2 कारतूस लक्की पिता राजू कांठा निवासी रानीखेड़ा, 1 पिस्टल व 1 कारतूस समीर पिता मेहबूब छीपा तथा अर्पित उर्फ गोलू हंस निवासी हरिजन बस्ती, रतलाम को 1 पिस्टल व 2 जिंदा राउंड बेचना बताया था।
इस तरह से बनी चेन
आरोपी सुनील की निशानदेही पर पुलिस टीम ने गांव बिरमावल जाकर आरोपी सुरेश उर्फ सूर्या पाटीदार के यहां दबिश दी। जहां से 1 पिस्टल व 2 राउंड जप्त किए। आरोपी सुरेश ने एक अन्य पिस्टल अपने दोस्त संदला जिला धार निवासी अर्पित उर्फ अक्की पिता रामलाल पाटीदार को देना बताया। जिस पर पुलिस ने अर्पित उर्फ अक्की को दबोचा। अर्पित से मालूम हुआ की उक्त पिस्टल उसने अपने मित्र सुभाष पिता कैलाश पाटीदार निवासी संदला को दी।
सुभाष पाटीदार के यहां जब दबिश दी गई तो उसने पूछताछ में उक्त पिस्टल अपने रतलाम के नयागांव निवासी परिचित किशन उर्फ बटिश पिता जसवंतसिंह राठौर को देना बताया।
आरोपी किशन उर्फ बटिश से जब पूछताछ की गई तो उसने उक्त पिस्टल अपने परिचित को देना बताया तथा 3 अन्य पिस्टल रतलाम के कस्तूरबा नगर निवासी गौरव बाबा से ख़रीदना बताया। जिसको उसने शिवम, प्रेम व अन्य को देना बताया।

IMG 20220117 WA0182 1
जानकारी देते एसपी गौरव तिवारी।

पुलिस टीम आरोपी सुनील की निशानदेही पर धार के राजोद पहुंची। जहां उसने लक्की कांठा व समीर छिपा को गिरफ्तार किया। इसके अलावा रतलाम से पुलिस ने आरोपी अर्पित उर्फ गोलू हंस व रितिक पिता सुनील ख़रे को भी गिरफ़्तार किया। पूछताछ में आरोपियों द्वारा धौंस जमाने व शौकिया तौर पर पिस्टल रखने की बात सामने आई। मामले में दो मुख्य आरोपी (सप्लायर) अविनाश उर्फ अर्जुन भील निवासी सिंघाना जिला धार व गौरव बाबा निवासी कस्तूरबा नगर रतलाम अब भी पुलिस की पहुंच से दूर है।

पुराना मामला भी आया सामने
एसपी तिवारी ने बताया कि मामले में गिरफ्तार आरोपी सुभाष पाटीदार कुछ समय पहले 1 नवम्बर 2021 के दिन जिला अस्पताल पहुंचा था। जहां उसने हाथ में गिट्टी लगने की जानकारी डॉक्टर को दी। डॉक्टर ने उपचार के दौरान उसके हाथ से बुलेट निकाली थी। जिस पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की थी। आरोपी सुभाष ने मामले का खुलासा करते बताया की उस दिन महू-नीमच रोड़ स्थित पवन मीणा के घर उसकी अवैध पिस्टल से छेड़छाड़ के दौरान ईश्वर खारोल निवासी जावरा से गोली चली थी, जो कि उसके हाथ मे लगी थी। पवन मीणा ने मामला छुपाने के लिए पुलिस के सामने झूठी जानकारी देने का दबाव बनाया। फिलहाल पुलिस पवन मीणा की तलाश कर रही है।
एक महिला भी धराई
वहिं एक अन्य मामले में थाना औद्योगिक क्षेत्र के नयागांव से एक महिला लक्ष्मी को गिरफ़्तार किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार मुखबिर की सूचना पर अवैध शराब बेच रही महिला लक्ष्मी के यहां दबिश दी गई। जहां तलाशी के दौरान एक देसी कट्टा पुलिस ने बरामद किया। थाना ओद्योगिक क्षेत्र पुलिस मामले की जांच कर रही है।
सराहनीय भूमिका
मामले के खुलासे में माणक चौक थाना प्रभारी दिलीप राजोरिया, सचिन डावर,प्र.आ. ज्ञानेंद्र, आर. धीरज, संदीप की सराहनीय भूमिका रही।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Copyright Content by VM Media Network