राजधानी में कारोबार और अंचल में होती है सरोकार की पत्रकारिता, रतलाम के वरिष्ठ पत्रकार विजय मीणा खंडवा में सम्मानित

राजधानी में कारोबार और अंचल में होती है सरोकार की पत्रकारिता, रतलाम के वरिष्ठ पत्रकार विजय मीणा खंडवा में सम्मानित

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
पत्रकारिता के अब मायने बदल गए हैं। बड़े शहरों में जहां पत्रकारिता कारोबार हो गई है वहीं अंचल में पत्रकारिता अब भी सरोकार बनी हुई है। किसी पत्रकार में यह भेद नहीं किया जाना चाहिए कि वे अंचल से है या राजधानी से। अंचल की पत्रकारिता में आज भी मूल भाव उपलब्ध हैं।
यह बात वरिष्ठ पत्रकार भूवनेश सेंगर ने मध्यप्रदेश मीडिया संघ और खंडवा पत्रकार संघ द्वारा आयोजित पदमभूषण पंडित भगवतंराव मंडलोई पत्रकार सम्मान समारोह में कही।
उन्होंने कहा प्रजातंत्र में चौथा स्तंभ होने का दंभ भरने वाली मीडिया के पास कोई अधिकार नहीं है। आंचलिक पत्रकारों को वेतन तक नहीं मिलता इसके बावजूद जिस तरह वे काम करते हैं वह अपने आपमें काबिले तारीफ है। इस मौके पर प्रदेशभर के चुनिन्दा पत्रकारों को लाइफ टाइम अचीवमेंट, श्रेष्ठ पत्रकार और नवोदित पत्रकारों के सम्मान से नवाजा गया। जिसमे रतलाम जिले से वरिष्ठ पत्रकार विजय मीणा (आजतक/ सहारा समय) को लाइफ टाइम अचीवमेंट सम्मान से सम्मानित किया गया।
इस मौके पर सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल ने कहा मीडिया हमें आइना दिखाने का काम करता है। पत्रकार जनता प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के बीच समन्वय का काम भी करते हैं। नए पत्रकार ज्यादा तेजी न दिखाएं और वरिष्ठों का मार्गदर्शन भी लें ताकि समाज के लिए बेहतर कर सकें। उन्होंने पंडित भगवंतराव मंडलोई के बारे में कहा कि उन्होंने मध्यप्रदेश के लिए जो काम किए हैं वो कभी भुलाए नहीं जा सकते। खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा ने कहा आपदा काल में पत्रकारों ने जो काम किए है वह सराहनीय हैं। जिला अध्यक्ष श्याम शुक्ला और नगर अध्यक्ष मनीष व्यास ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के करीब डेढ़ दर्जन जिलों के पत्रकार मौजूद थे। संचालन ग्रामीण जिला अध्यक्ष पंकज लाड़ ने किया। आभार मध्यप्रदेश मीडिया संघ के अध्यक्ष जयवंत ठाकरे ने व्यक्त किया।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.