आयुष्मान कार्ड बनाने में पिपलोदा जनपद सबसे आगे, बाजना-सैलाना जनपद परफारमेंस सुधारें

आयुष्मान कार्ड बनाने में पिपलोदा जनपद सबसे आगे, बाजना-सैलाना जनपद परफारमेंस सुधारें

कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में दिए निर्देश

रतलाम।  रतलाम जिले में आयुष्मान कार्ड बनाने में जनपद पंचायत पिपलोदा सबसे आगे हैं। वहां 92 प्रतिशत आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं जबकि इस मामले में खासतौर पर जनपद सैलाना तथा बाजन जनपद की हालत खराब हैं। कलेक्टर कुमार कुमार पुरुषोत्तम नेे दोनों जनपदों की परफॉर्मेंस सुधारने के निर्देश दिए है। कलेक्टर सोमवार को समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में योजनाओं, कार्यक्रमों की प्रगति के बारे में जानकारी ले रहे थे।

रतलाम शहर में आयुष्मान कार्ड निर्माण की कमजोर प्रगति पर कलेक्टर ने चिंता व्यक्त करते हुए निगम आयुक्त, शहर एसडीएम तथा महिला बाल विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि वे संयुक्त प्रयासों द्वारा शहर में कार्ड बनाने की प्रगति में सुधार लाएं। कम से कम 1 हजार कार्ड रोजाना बनाए जाएं। कलेक्टर ने समीक्षा में पाया कि रतलाम जनपद पंचायत क्षेत्र में भी आयुष्मान कार्ड बनाने के मामले में ठीक कार्य हुआ है। कलेक्टर द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सहायक के रोल को महत्वपूर्ण मानते हुए उनकी आईडी बनाने के निर्देश दिए ताकि ज्यादा ज्यादा आयुष्मान कार्ड बन सके। कलेक्टर ने रतलाम शहर में आयुष्मान कार्ड निर्माण प्रगति के लिए उन वार्ड पर फोकस करने के निर्देश दिए जहां ज्यादा संख्या में पात्र व्यक्ति निवासरत है। निगमायुक्त को शहर में कार्ड निर्माण केंद्रों की संख्या में वृद्धि के लिए निर्देशित किया। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत मिनाक्षीसिंह, अपर कलेक्टर जमुना भिड़े, एसडीएम एमएल आर्य, अभिषेक गहलोत, निगमायुक्त सोमनाथ झारिया आदि अधिकारी उपस्थित थे।

31 जुलाई के पूर्व प्रत्येक जनपद में रोजगार मेला

बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए कि आगामी 31 जुलाई के पूर्व जिले के प्रत्येक जनपद पंचायत में एक रोजगार मेले का आयोजन किया जाना है। इसके अलावा जिला स्तर पर वृहद रोजगार मेला आयोजित होगा। आईटीआई के प्राचार्य तथा महाप्रबंधक उद्योग को निर्देशित किया कि वे अधिकाधिक उद्योगों से चर्चा करके ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने का प्रयास करें।

किल कोरोना सर्वे जारी रहे

कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जिले में किल कोरोना सर्वे सतत जारी रहे। केरल तथा महाराष्ट्र से आने वाले व्यक्तियों की मॉनिटरिंग की जाना है। उन प्रदेशों में कोरोना के ज्यादा मामले देखने में आ रहे हैं। मास्क का उपयोग नहीं करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई सतत जारी रखने के निर्देश दिए गए। कलेक्टर ने कहा कि लोगों को स्मरण कराना आवश्यक है कि कोरोना अभी गया नही है। कोरोना प्रोटोकॉल का शादी, ब्याह में पालन नहीं होने संबंधित आयोजक के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए।

विद्युत वितरण कंपनी को सतत विद्युत आपूर्ति के निर्देश

कलेक्टर ने विद्युत वितरण कंपनी के अधीक्षण यंत्री वर्मा को निर्देशित किया कि रतलाम शहर में बिजली की सतत आपूर्ति सुनिश्चित करें। पिछले कुछ दिनों में विद्युत उपलब्धता में बाधा के कारण शहर में जलापूर्ति में व्यवधान देखने में आया है। निगमायुक्त ने बताया कि बिजली जाने से शहर में जलापूर्ति में कई बार बाधा का सामना करना पड़ा है।

कोविड-बाल कल्याण योजना की समीक्षा

कलेक्टर ने शासन की कॉविड बाल कल्याण योजना की समीक्षा की। बताया गया कि जिले में योजना के तहत 37 बच्चों को सूचीबद्ध किया गया है। कलेक्टर ने महिला बाल विकास अधिकारी रजनीश सिन्हा को निर्देश दिए कि सभी 37 बच्चों का डेटाबेस तैयार करें, प्रत्येक बच्चे की फाइल बने। विभाग का परियोजना अधिकारी नियमित रूप से बच्चों की मदद एवं सुविधा हेतु मानिटरिंग करें।

राशन वितरण में गड़बड़ी पर एसडीएम सीधे जिम्मेदार

कलेक्टर ने निर्देश दिए कि उचित मूल्य दुकानों पर राशन में कालाबाजारी नहीं हो या सुनिश्चित किया जाए, किसी भी प्रकार की शिकायत आने पर संबंधित एसडीएम सीधे जिम्मेदार रहेंगे। किसी दुकान पर कालाबाजारी की जाती है तो संबंधित व्यक्तियों के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी जिसमें आरोपी को सीधे जेल भेजा जाता है। अब तक जिले में ऐसे दो व्यक्तियों के विरुद्ध कार्रवाई की गई है।

सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा

कलेक्टर द्वारा बैठक में सीएम हेल्पलाइन में प्राप्त शिकायतों के निवारण की समीक्षा भी की गई। जिन विभागों द्वारा शिकायतों को अटेंड नहीं किया गया है उनके विरुद्ध कलेक्टर द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई। कलेक्टर ने कहा कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है, इससे मैदानी क्षेत्रों में आम लोगों की समस्याओं का निराकरण होता है।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.