निरीक्षण : कलेक्टर पुरुषोत्तम ने ली छात्रों व शिक्षकों की क्लास, कहीं मिली तारीफ तो कई निलंबित

निरीक्षण : कलेक्टर पुरुषोत्तम ने ली छात्रों व शिक्षकों की क्लास, कहीं मिली तारीफ तो कई निलंबित

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने बुधवार को ग्राम बिबड़ोद, पलसोडी, बावड़ी, शिवगढ़ के स्कूलों, आंगनवाडियों तथा अन्य संस्थाओं का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान ग्राम पलसोडी हायर सेकेंडरी स्कूल में 5 शिक्षक अनुपस्थित होने पर उनका निलंबन कर दिया। लापरवाही पर खंड शिक्षा अधिकारी तथा प्राचार्य को भी शोकॉज नोटिस दिया है। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम के साथ एसडीएम (शहर) राजेश शुक्ला, एसडीएम (सैलाना) कामिनी ठाकुर, जिला महिला बाल विकास अधिकारी रजनीश सिन्हा, क्षेत्र संयोजक पारुल जैन मौजूद थी।

बच्चो से करवाए जोड़-घटाव
कलेक्टर ने ग्राम बिबड़ोद के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया। वहां मौजूद मरीज श्रीमती नंदीबाई से चर्चा की। उनके कमजोर स्वास्थ्य के दृष्टिगत एएनएम को विशेष रुप से ध्यान देने के निर्देश दिए गए। पास में लगे हुए प्राथमिक स्कूल में पहुंचकर कलेक्टर द्वारा बच्चों के शैक्षणिक स्तर का जायजा लिया। अधिकांश बच्चे पढ़ाई में कमजोर पाए गए लेकिन चौथी कक्षा के विद्यार्थी सनी द्वारा सही ढंग से जोड़ करके दिखाया। कलेक्टर ने स्कूल स्टाफ से चर्चा की, निर्देशित किया कि बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान दें। स्कूल स्टाफ के साथ ग्राम पंचायत सचिव दिलीप पाटीदार को भी व्यवस्थाओं में सुधार लाने के लिए निर्देशित किया गया। स्कूल स्टाफ ने बताया बच्चे रेगुलर नहीं आते हैं, कलेक्टर ने उनके माता-पिता से सतत संपर्क करके नियमित उपस्थिति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने हिदायत दी कि बच्चों के पास अच्छे बैग हो, पानी की बोतल हो, सीटिंग अरेंजमेंट अच्छा हो, मध्यान्ह भोजन में खाने के बर्तन अच्छे हो, शुद्ध पेयजल तथा शौचालय सुविधा मिले में एक माह बाद पुनः आऊँगा तब तक दिए गए निर्देशों अनुसार सुधार कर लेना।

आंगनवाड़ी निरीक्षण करते कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम

आंगनवाड़ी देख खुश हुए कलेक्टर
कलेक्टर द्वारा ग्राम बिबड़ोद की स्वयं के द्वारा गोद ली गई आंगनवाड़ी का निरीक्षण किया। आंगनवाड़ी की व्यवस्थाएं बेहतर पाई गई। अच्छे से रंग रोगन, बच्चों को खेल-खेल में शिक्षा देने के लिए किये गए इंतजाम और दीवारों पर आकर्षक पेंटिंग साथ बिछात व्यवस्था भी बेहतर देख कलेक्टर ने व्यवस्था देख रही आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ की तारीफ की।

पलसोड़ी में 5 शिक्षक निलंबित
कलेक्टर कुमार ग्राम पलसोडी पहुंचे जहाँ एक ही परिसर में स्थित कन्या आश्रम तथा हायर सेकेंडरी स्कूल निरीक्षण किया। स्कूल में शिक्षकों की उपस्थिति पंजी, कलेक्टर द्वारा चेक किए जाने पर पाया गया कि बुधवार को 5 शिक्षक अनुपस्थित थे। नाराज कलेक्टर द्वारा प्राचार्य से पूछताछ की गई, उत्तर से संतुष्ट नहीं होते हुए कलेक्टर द्वारा अनुपस्थित शिक्षकों को निलंबित करने के निर्देश दिए गए। साथ ही खंड शिक्षा अधिकारी एवं प्राचार्य को भी कारण बताओ सूचना पत्र जारी करने के लिए निर्देशित किया गया। इसके बाद पलसोडी हायर सेकेंडरी स्कूल की कक्षा 9वी में पहुंचकर कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम द्वारा शिक्षक तथा बच्चों का गणित ज्ञान परखा गया। शिक्षक हितेश बारोदिया द्वारा संतुष्टिपूर्वक समाधान किया गया। स्कूल परिसर में पेयजल के लिए लगाई गई नल की टोटियां चेंज करने के निर्देश दिए।
गांव बावड़ी में आंगनवाड़ी भवन का निरीक्षण किया गया। साथ ही पंचायत कार्यालय निरीक्षण करते हुए सचिव से ग्राम विकास की जानकारी ली।

स्कूल में हाजरी देखते कलेक्टर

कन्या आश्रम में मिली अनियमितता
कलेक्टर ने ग्राम शिवगढ़ में आदिवासी कन्या आश्रम पहुंचकर मध्यान्ह भोजन का निरीक्षण किया। निरीक्षण में बुधवार के दिन निर्धारित मीनू अनुसार संपूर्ण भोजन प्रदाय नहीं पाया गया। दाल, रोटी और सब्जी देना थी परंतु सब्जी नहीं मिली। उपस्थित नायब तहसीलदार वंदना किराड़े को नियमित रूप से यहां आकर बच्चों के भोजन को चेक करने के निर्देश दिए। कन्या आश्रम भवन के निरीक्षण में उखड़े हुए प्लास्टर तथा अन्य खामियों को देख कलेक्टर नाराज हो गए तथा क्षेत्र संयोजक पारुल जैन को निर्देशित किया कि भवन निर्मित करने वाले ठेकेदार की जानकारी उपलब्ध करवा कर कार्रवाई की जाए।

मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना की ली जानकारी
ग्राम बिबड़ोद में कलेक्टर द्वारा ग्रामवासियों से चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना पर चर्चा करते हुए लाभ लेने की बात कही। कलेक्टर ने ग्राम पंचायत सचिव से आवेदनों की संख्या पूछी, बताया गया कि ग्राम में 30 व्यक्तियों द्वारा उपरोक्त योजना में आवेदन किए गए हैं। कलेक्टर ने कहा कि जो भी पात्र व्यक्ति हैं, योजना में उनको आवास निर्माण के लिए भूखंड का पट्टा आवंटित किया जाएगा।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.