कलेक्टर ने चेताया महिला बाल विकास विभाग के सीडीपीओ अपना परफॉर्मेंस सुधारें, पूरक पोषण आहार वितरण में प्रगति नहीं होने पर चार अधिकारियों को नोटिस

कलेक्टर ने चेताया महिला बाल विकास विभाग के सीडीपीओ अपना परफॉर्मेंस सुधारें, पूरक पोषण आहार वितरण में प्रगति नहीं होने पर चार अधिकारियों को नोटिस

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में महिला बाल विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा की। साथ ही जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक भी ली।
कलेक्टर ने बैठक में पूरक पोषण आहार वितरण में प्रगति कमजोर पाए जाने पर जिले के चार परियोजना अधिकारियों को शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। परफॉर्मेंस सुधार नहीं किए जाने पर वेतन भी रोका जाएगा। एसपी गौरव तिवारी, कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास रजनीश सिन्हा, जिला बाल संरक्षण समिति अध्यक्ष सुधीर निगम, सदस्य सुमित्रा आवतानी, सहायक संचालक अंकिता पंड्या, जिला विधिक सहायता अधिकारी पूनम तिवारी भी उपस्थित थी।

पूरक पोषण आहार वितरण में भी पीछे

कलेक्टर द्वारा की गई समीक्षा में रतलाम शहर क्रमांक दो, पिपलौदा, जावरा ग्रामीण तथा आलोट परियोजना क्षेत्रों में पूरक पोषण आहार का वितरण प्रतिशत अत्याधिक कम पाए जाने पर कलेक्टर द्वारा नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित सीडीपीओ को शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए।

प्रशिक्षण के साथ काम भी दिलाए


बच्चों में कुपोषण को दूर करने के लिए कलेक्टर ने निर्देश दिए कि विभाग गर्भवती महिलाओं की उचित देखभाल पर अपना फोकस करें। महिला की गर्भावस्था के प्रारंभ से ही यह ध्यान दिया जाए कि उसको उचित आहार तथा आवश्यक दवाइयां उपलब्ध कराई जाए। इससे बच्चा कुपोषितनहीं होगा, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की समीक्षा के दौरान कलेक्टर द्वारा निर्देशित किया गया कि महिलाओं तथा युवतियों को कौशल संवर्धन उन्नयन प्रशिक्षण देने के साथ ही उनके रोजगार की भी उपलब्धता सुनिश्चित की जाना चाहिए, मात्र प्रशिक्षण देने से काम नहीं चलेगा उनको प्लेसमेंट भी दिलवाया जाए, लाडली लक्ष्मी पीएम मातृ वंदना योजना की भी समीक्षा की गई।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.