संवेदनाएं शून्य : 46 डिग्री तापमान में बीच सड़क पर छोड़ रहे गाय, किसानों की आपत्ति पर अमले ने साधी चुप्पी

- Advertisement -

रतलाम, वंदेतमारम् न्यूज।
शहर में आवारा मवेशियों को पकड़ने के दौरान जिम्मेदारों की लापरवाही एक बार फिर नगर निगम को सुर्खियों में ला चुका है। मवेशियों को पकड़कर गोशाला छोड़ने के बजाए नगर निगम की टीम 46 डिग्री तापमान में सालाखेड़ी क्षेत्र में बीच सड़क पर छोड़ रहे हैं। पूरे मामले का एक वीडियो वंदेमातरम् न्यूज के पास उपलब्ध है, जिसमें स्पष्ट है कि पकड़ी गई गाय को तपती धूप में बीच सड़क पर छोड़ने के दौरान कुछ लोग नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं, लेकिन नगर निगम की टीम मुंह नीचे किए हुए गाय को बीच सड़क पर छोड़कर ट्रॉली का गेट लगाकर आगे बढ़ गए।
शहर में आवारा मवेशियों को पकड़कर गोशालाओं में छोड़ने और मवेशी पालकों के खिलाफ कार्रवाई का प्रावधान निर्धारित है। नियमों को दरकिनार करते हुए आवारा मवेशियों को पकड़ने वाली टीम पर उच्चाधिकारियों की मॉनीटरिंग नहीं होने से कर्मचारियों की मनमानी बनी हुई है। ऐसी ही एक घटना सोमवार को सालाखेड़ी क्षेत्र में वीडियों में कैद हुई है। प्रदेश में सबसे गर्म रतलाम में सोमवार को 46 डिग्री सेल्सियस तापमान के बीच नगर निगम का अमला तपती सड़क पर एक पकड़ी गाय को छोड़ रहे हैं। समीप के खेतों के किसानों ने नाराजगी के साथ बीच सड़क पर गाय को छोड़ने पर आपत्ति ली। इसके बाद भी टीम में शामिल लोग बेशर्मी पूवर्क गाय को वहीं छोड़कर आगे बढ़ गए। मामले में स्वास्थ्य विभाग अधिकारी जीके जायसवाल से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि शहर सहित जिले की गोशालाओं में जगह नहीं है। इस कारण से पकड़े गए मवेशियों को जंगल में छोड़ा जा रहा है। मामले में नगर निगम आयुक्त सोमनाथ झारिया से संपर्क करने पर उनके द्वारा मोबाइल फोन रिसीव नहीं किया गया।

वीडियो : गाय को छोड़ते निगमकर्मी
- Advertisement -


गोशालाओं को नहीं देते खुराक की राशि
नियमों के अनुसार पकड़े मवेशियों को गोशालाओं छोड़ने के बाद प्रतिदिन के मान से नगर निगम द्वारा गोशालाओं को खुराक राशि दी जाना होती है। नगर निगम के जिम्मेदारों की लापरवाही कुछ ऐसी है कि वह गोवंश छोड़ने के बाद गोशाला संचालकों को खुराक की राशि के लिए चक्कर कटवाते हैं। सूत्रों के अनुसार इस अव्यवस्था से परेशान होकर गोशाला संचालकों ने नगर निगम के पकड़े मवेशियों को लेने से इंकार कर दिया है। इसके बाद भी नगर निगम के आला अधिकारी पूरे मामले से अनभिज्ञ बने हुए हैं। नतीजतन गैर जिम्मेदाराना तरीके से मवेशियों को भीषण गर्मी में शहर के बाहरी क्षेत्रों में जंगल में छोड़ा जाने लगा है।  

- Advertisement -

Related articles

मुख्यमंत्री का माना आभार : पूर्व महापौर शैलेंद्र डागा ने नजूल एनओसी की अनिवार्यता समाप्त करने के निर्णय का किया स्वागत, विभाजित प्लाट मामले...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।नए साल से बिल्डिंग परमिशन के लिए लगने वाली नजूल एनओसी की अनिवार्यता को समाप्त करने...

चौथी बार सड़क पर उतरे कलेक्टर : भाजपा नेता की भी नहीं चली, रेलवे की सीमा पर अतिक्रमण नहीं हटाने के लिए आगे आए...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।रतलाम शहर में ट्रैफिक सुधार को लेकर अतिक्रमण मुहिम लगातार जारी है। सोमवार को अतिक्रमण मुहिम...

भीषण हादसे के बाद कार्रवाई शुरू : विधायक मकवाना ने कलेक्टर और एसपी के साथ किया निरीक्षण, अतिक्रमण हटाने के लिए बुलाई जेसीबी और...

BIG UPDATEDरतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।सातरुंडा चौराहे पर भीषण हादसे के दूसरे दिन सोमवार को मौके पर ग्रामीण विधायक दिलीप...

नृशंस हत्या का पर्दाफाश : चचेरे भाई ने तलवार से हमला कर उतारा मौत के घाट, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

चेतन्य मालवीयसैलाना, वंदेमातरम् न्यूज।जिले के अड़वानिया मार्ग पर रविवार सुबह 33 वर्षीय युवक की निर्मम हत्या में सैलाना...
error: Content is protected by VandeMatram News