34.5 C
Ratlām
Friday, March 1, 2024

धोखाधड़ी : 2 युवकों को सपना दिखाकर 8 लाख रुपए से अधिक राशि हड़पी, रुपए ऐंठने वाले शातिर शुभम बैरागी के खिलाफ जल्द होगी FIR

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
रतलाम में 2 बेरोजगार युवकों को व्यवसाय का सपना दिखाकर 8 लाख 18 हजार रुपए की धोखाधड़ी का मामला सामने आया। शातिर गणेशनगर का निवासी है और अलकापुरी में मी इनोवेशन के नाम से मोबाइल एसेसरीज दुकान संचालित करता है। एसपी को शिकायत के बाद जांच में जुटी औद्योगिक क्षेत्र पुलिस ने ठगी के शिकार हुए युवा बेरोजगारों के बयान दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी। शातिर असामाजिक तत्वों के साथ गिरोह के रुप में बेरोजगार और सीधे-साधे लोगों को झांसा देता है।
शिक्षित बेरोजगार युवक पुष्कर चौधरी और आयुष शर्मा ने संयुक्त रुप से एसपी गौरव तिवारी को लिखित शिकायत की है। शिकायतकर्ता पुष्कर और आयुष ने बताया कि उनसे रुपए ऐंठने वाला शातिर शुभम पिता दिनेशचंद्र बैरागी ए-20 गणेशनगर निवासी है। शातिर शुभम बैरागी ने दोनों बेरोजगार युवकों को मोबाइल कवर बनाने के लिए लेजर कटिंग मशीन मंगवाकर उन्हें बेहतर व्यवसाय शुरू कर अन्य को रोजगार दिलाने का सपना दिखाया था। शातिर शुभम बैरागी की बातों में आकर पहले छोटी मशीन मंगवाने के लिए युवकों ने उसे 5 लाख 95 हजार रुपए दिए। छोटी मशीन आने के बाद उसमें आई खराबी के बाद उसे सुधरवाने के लिए शुभम ने 32 हजार रुपए प्राप्त किए। 32 हजार रुपए लेने के बाद जब मशीन नहीं सुधरी तो उसके द्वारा दोनों युवकों को बड़ी मशीन लेने की बात कहकर 6 लाख 27 हजार 470 रुपए अतिरिक्त ऐंठ लिए। शुभम बैरागी ने दोनों युवकों से 17 अक्टूबर तक कुल 12 लाख 22 हजार 470 रुपए ऐंठ लिए। शंका होने पर दोनों युवकों ने कंपनी में बात की तो उन्हें बड़ी मशीन की वास्तविक लागत जीएसटी के साथ 3 लाख 77 हजार 600 रुपए बताई गई। 8 लाख 18 हजार रुपए की धोखाधड़ी का पता चलने पर पुष्कर चौधरी और आयुष शर्मा ने जब शुभम बैरागी से राशि लौटाने का तकादा किया तो उन्हें डरा-धमकाने के साथ अलकापुरी कार्यालय से भगा दिया। शिकायतकर्ता बेरोजगार दोनों युवकों ने बताया कि ठगी के बाद जब शुभम बैरागी के बारे में पता किया तो जानकारी मिली कि वह असामाजिक तत्वों के साथ एक गिरोह के रुप में काम करता है और उसके द्वारा इसी तरह छल किया जाता है, लेकिन डर के कारण लोग शिकायत करने आगे नहीं आते।

जल्द होगी एफआईआर
एसपी कार्यालय के माध्यम से प्राप्त शिकायत के आधार पर मामले की जांच में बेरोजगार युवकों के साथ प्रथम दृष्टया धोखाधड़ी होना पाया गया है। शिकायतकर्ताओं के बयान ले लिए गए हैं। जल्द ही आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर एफआईआर की जाएगी। – आरके चौहान, उपनिरीक्षक, औद्योगिक क्षेत्र थाना रतलाम

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Copyright Content by VM Media Network