20 लाख रुपए के जीपीएस का टेंडर खारिज, 7 माह से ठेकेदार कर रहा था अनुबंध के विपरित कार्य

20 लाख रुपए के जीपीएस का टेंडर खारिज, 7 माह से ठेकेदार कर रहा था अनुबंध के विपरित कार्य

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
नगर निगम के 143 वाहनों में जीपीएस सिस्टम संचालन में बरती जा रही ठेकेदार की मनमानी भारी पड़ गई। तीन वर्ष के अनुबंध के पूर्व 7 माह में ही नगर निगम प्रशासन को एजेंसी के खिलाफ टेंडर खारिज करने का सख्त निर्णय लेना पड़ा। 20 लाख से अधिक रुपए के इस कार्य को भोपाल की एजेंसी द रिनाउंसर को बीच में ही छोड़ कर बाहर जाना पड़ा।
नगर निगम आयुक्त सोमनाथ झारिया ने बताया कि दिसंबर-2020 एवं जनवरी 2021 की दरमियान निगम स्वामित्व के वाहनों में सुचारू रूप से जीपीएस सिस्टम संचालन के लिए टेंडर प्रक्रिया पूरी हुई थी। आवश्यक इसलिए था कि चार वर्ष से पूर्व हुई प्रक्रिया में अधिकांश वाहन में जीपीएस सिस्टम खराब हो चुके थे या वाहनों की लोकेशन सहित ईंधन खर्च की सही जानकारी प्राप्त नहीं हो पा रही थी। अमृत योजना में आए नए वाहनों के अलावा पूर्व के सभी कुल 143 वाहनों के संचालन के लिए जीपीएस संचालन में टेंडर प्रक्रिया जारी की गई थी। भोपाल की द रिनाउंसर एजेंसी को 20 लाख से अधिक राशि में तीन वर्ष के लिए काम सौंपा। पिछले 7 माह से लगातार द रिनाउंसर का संचालक कार्यादेश एवं अनुबंध के मुताबिक कार्य नहीं कर रहा था। ठेकेदार की ओर से बरती जा रही मनमानी पर दो बार नोटिस जारी करने के बाद भी कार्य में नहीं हो रहे सुधार पर द रिनाउंसर एजेंसी का टेंडर निरस्त कर अनुबंध समाप्त करने के आदेश जारी कर दिए।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.