23.2 C
Ratlām
Sunday, September 25, 2022

मानसिक प्रताडऩा : लापरवाही से उपस्वास्थ्य केंद्र के बाहर हुआ प्रसव, प्रसूता को 2 लाख रुपए मुआवजे की मांग जनजाती विकास मंच ने की

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
जिले के कुंदनपुर स्वास्थ्य केंद्र में ताला लगा होने से केंद्र के बाहर गर्भवती के प्रसव के मामले में जनजाती विकास मंच ने विरोध दर्ज कराया है। दोषी एएनएम के निलंबन के बाद प्रसूता को 2 लाख रुपए मुआवजे की मांग करते हुए जनजाती विकास मंच ने कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी को ज्ञापन सौंपते हुए दोषी वरिष्ठ अधिकारियों पर कार्रवाई की आवाज उठाई है।
जनजाती विकास मंच के संजय निनामा ने बताया कि बाजना के कुंदनपुर स्वास्थ्य केंद्र में ग्राम बाकी की गर्भवती को परिजन प्रसव के लिए लेकर पहुंचे, लेकिन एएनएम स्वास्थ्य केंद्र पर सूचना बगैर अनुपस्थित हो गई थी।

प्रसव पीड़ा से तड़प रही महिला की परिजन ने स्वास्थ्य केंद्र के बाहर ही डिलीवरी करवाई। मामले में ग्रामीणों ने जिम्मेदारों को फोन भी लगाया लेकिन कोई भी नहीं पहुंचा। प्रसूता ने परिवार और अन्य ग्रामीणों की मौजूदगी में एक शिशु को जन्म दिया था। जिले की स्वास्थ्य सुविधाओं की जिम्मेदारी निभाने वाले मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर ननावरे की कार्यप्रणाली ने एक बार फिर आदिवासी अंचल की स्वास्थ्य सेवाओं की पोल खोलकर रख दी। मंच के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करते हुए दोषी वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की मांग की है।

फाइल फोटो : जिले के कुंदनपुर स्वास्थ्यकेन्द्र पर ताला होने पर गर्वभती का खुले में कराना पड़ा था परिजन को प्रसव।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

Latest Articles

error: Content is protected by VandeMatram News