26.9 C
Ratlām
Saturday, June 22, 2024

जावरा के औद्योगिक विकास को कोई नहीं रोक पाएगा, नए आकार में होगा विकसीत, विधायक व कलेक्टर ने किया क्षेत्र का निरीक्षण

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।

जावरा नगर के औद्योगिक विकास को पंख लगाने में मील का पत्थर सिद्ध हो रहे बहु उत्पाद औद्योगिक क्षेत्र ने अब अपना आकार लेना शुरू कर दिया है। क्षेत्र में आधारभूत विकास कार्यो के लिए 38 करोड़ रु की निविदा भी आमंत्रित हो गई है। कलेक्टर रतलाम कुमार पुरुषोत्तम ने विधायक डॉ. राजेन्द्र पाण्डेय के साथ प्रस्तावित ओद्योगिक क्षेत्र शुगर मिल परिसर का निरिक्षण किया। 

उल्लेखनीय है कि विधायक डॉ. पाण्डेय द्वारा लम्बे समय से जावरा शुगर मिल में बहु उत्पाद औद्योगिक क्षेत्र के रूप में विकसित करने के लिए प्रयास किया जा रहे है जिसके फलस्वरूप प्रदेश शासन ने बीते समय शुगर मिल परिसर में बहु उत्पाद औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने की स्वीकृति प्रदान की। म.प्र.ओद्योगिक विकास निगम द्वारा इस क्षेत्र को विकसित किया जाएगा। क्षेत्र में निवेशको को विभिन्न प्रकार की सुविधाए प्रदान की जायेगी। निगम ने इस संबंध में निविदा भी आमंत्रित कर दी है l 38 करोड़ रु की जारी इस निविदा में बहु उत्पाद औद्योगिक क्षेत्र में आधारभूत विकास कार्य किये जायेगे जिसमे मुख्य रूप से सी.सी. सडक, पुलिया, स्ट्रांग वाटर ड्रेनेज, जल वितरण के लिए पाईप लाईन, पेयजल हेतु उच्च दाब की टंकी निर्माण, स्ट्रीट लाईट,33 केवी क्षमता का ट्रांसफार्मर व ग्रिड सहित विभिन्न कार्य सम्मिलित किये गये है। यह कार्य लगभग एक डेढ़ माह में प्रारम्भ किया जाना प्रस्तावित है। 

ज्ञातव्य है कि जावरा औद्योगिक क्षेत्र में उद्योगपतियों के उत्साह को देखते हुए निवेशको से आन लाईन आवेदन मंगाए जाने की प्रक्रिया भी प्रारम्भ कर दी  गई है जिससे शीघ्र निवेशको को भूमि आवंटन किया जा सकेगा जिससे निवेशक अपनी ईकाईयो का निर्माण भी शुरू कर सकेगे। औद्योगिक क्षेत्र जावरा शीघ्र ही राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान स्थापित करेगा। इस क्षेत्र में लगभग 200 ईकाईयो के स्थापित होने के साथ 300 से 400 करोड़ का निवेश होने की सम्भावना है जिससे लगभग 3 हजार से अधिक लोगो को रोजार मिलने की सम्भावना है। 

शुक्रवार को कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने विधायक डॉ. राजेन्द्र पाण्डेय के साथ इस ओद्योगिक क्षेत्र का निरिक्षण किया। कलेक्टर पुरुषोत्तम ने मिल परिसर का सीमांकन करने, आधारभूत कार्य प्रारम्भ करने से पूर्व सम्पति व मशीनों का आकलन करने का भी निर्देश दिया। इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी हिमांशु प्रजापति, उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक मुकेश शर्मा सहित विभिन्न अधिकारीगण उपस्थित रहेl

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Copyright Content by VM Media Network