शादी का झांसा देकर होमगार्ड सैनिक होटल में करता रहा दुष्कर्म, गर्भपात के लिए जबरन खिलाई टैबलेट

शादी का झांसा देकर होमगार्ड सैनिक होटल में करता रहा दुष्कर्म, गर्भपात के लिए जबरन खिलाई टैबलेट

रतलाम, वन्देमातरम् न्यूज़।
रतलाम के औद्योगिक थाने में पदस्थ होमगार्ड सैनिक पर दुष्कर्म करने का शर्मशार करने वाला मामला सामने आया। आरोपी होमगार्ड सैनिक कृष्णगोपाल उर्फ अंकुर बन्ना निवासी नयागांव ने फेसबुक पर दोस्ती के बाद शादी का झांसा देकर युवती के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। दुष्कर्म का आरोपी कृष्णगोपाल उर्फ अंकुर बन्ना 6 माह पहले तक स्टेशन रोड़ थाने में पदस्थ था जहां से उसे औद्योगिक क्षेत्र थाने में भेजा गया था। आरोपी 1 साल से युवती के साथ दुष्कर्म कर रहा था। स्टेशन रोड़ थाना प्रभारी किशोर पाटनवाला ने बताया की आरोपी पर धारा 376(2)N, 312, 506 में मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल आरोपी फरार है जिसकी तलाश की जा रही है।

2 साल पहले सोशल मीडिया से हुई दोस्ती
पीड़िता ने पुलिस को बताया कि 2019 में फेसबुक से उसकी दोस्ती होमगार्ड सैनिक कृष्णगोपाल कुशवाह उर्फ अंकुर बन्ना से हुई थी। दोनों में दोस्ती होकर प्रेम संबंध हो गए। कृष्णगोपाल मुझसे किसी भी स्थिति में विवाह करने की बात कहता था। वह 5 मार्च 2021 को दोपहर 12.30 बजे घुमाने ले गया। अजंता टॉकीज रोड़ स्थित होटल श्री पैलेस के सामने कुछ देर खड़े रहने के बाद उसने कहा कि होटल मे बैठ कर बात करते है। उसने वहां पर मेरी मर्जी के बिना जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाए। उसके बाद उसे तीन- चार बार उसी होटल में ले गया। आखिरी में दिसम्बर-2021 में भी उसी होटल में उसने जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाए। शादी करने की बात कही तो वह टालमटोल के साथ धमकाने लगा।


गर्भपात के लिए खिलाई गोलियां
पीड़िता के अनुसार 2 माह पहले 14 जनवरी 2022 को पीरियड नहीं आने पर कृष्णगोपाल को यह बात बताई तो उसने जांच कीट लाकर दी। उससे चेक करने पर पॉजीटिव रिपोर्ट आने पर उसने सैनिक कृष्णगोपाल से शादी की बात कही तो उसने मना कर दिया। इसके बाद गर्भपात की गोलियां लाकर दी और कहा की इसे खा ले। मना किया तो उसने जबरदस्ती दोनो टेबलेट खिलाई। आरोपी ने धमकाया कि शादी की बात की तो सेल्फी वाले फोटो वायरल कर तुझे बदनाम कर दूंगा।

(फोटो – आरपी होमगार्ड जवान कृष्णगोपाल सिंह उर्फ अंकुर बन्ना)

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.