डूंगरपुर-बांसवाड़ा रेल लाइन में रेलवे कॉलोनी के प्लॉट अधिग्रहित, मुआवजे की यह रणनीति

डूंगरपुर-बांसवाड़ा रेल लाइन में रेलवे कॉलोनी के प्लॉट अधिग्रहित, मुआवजे की यह रणनीति

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
डूंगरपुर-बांसवाड़ा रेल परियोजना में रेलवे गृह निर्माण समिति की जमीन के कुछ प्लॉट अधिग्रहित हुए है। मगर सदस्यों को इसका आज तक राजस्थान सरकार से मुआवजा नही मिला। इसके लिए सभी सदस्यों को एकजुट होना पड़ेगा।
यह बात सोसायटी के सदस्य रामस्वरूप गुर्जर ने शनिवार को पत्रकारवार्ता में कही।
उन्होंने बताया कि वर्ष 1986 में रेलवे गृह निर्माण समिति का गठन हुआ था। इसमें रेलवे कर्मचारी व सेवानिवृत्त कर्मचारी शामिल हुए तथा 690 सदस्य है। अब कॉलोनी मे रेरा के नियमों का पेंच भी फंसा है। इसलिए डायरेक्टर चुनाव व नए सदस्यों को शामिल कर रणनीति बनाई जाएगी।
36.5 बीघा जमीन पर काटे थे प्लॉट
समिति के सदस्य व पूर्व रेलवे एसीएम जीजी सिंह ने बताया कि समिति में सदस्यों की सागोद रोड से सटे धोलावड़ रोड पर 36.5 बीघा जमीन ख़रीदी गई। 30 बाय 50 के 550 प्लॉट काटे गए। इनके आबंटन की प्रकिया के बीच वर्ष 2014 में डूंगरपुर बांसवाड़ा लाइन के लिए 2 बीघा से अधिक कोने की जमीन अधिग्रहित कर ली गई। इसके बावजूद राजस्थान सरकार से मुआवजा नही मिला।
3 अक्टूबर को चुनाव
समिति संचालक मंडल के 3 अक्टूबर रविवार को चुनाव होने है। इसमे मुआवजे सहित अन्य एजेंडे तैयार किए गए। 11 डायरेक्टर के चुनाव होंगे। ये कार्यकारिणी का चयन करेंगे। सदस्यों का कहना है कुछ नए सदस्य बनाने पड़ेंगे।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.