कालाबाजारी की शंका: यूरिया के टॉप 20 बायर्स में सैलाना के 143 व्यक्ति, होगी FIR, अधिकारियों को नोटिस

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम द्वारा शुक्रवार को कृषि, उद्यानिकी, सहकारिता आदि विभागों की समीक्षा बैठक में की गई। कलेक्टर ने समीक्षा के दौरान जिले में यूरिया के टॉप 20 बायर्स की जानकारी प्राप्त की। जानकारी मिली कि विगत अप्रैल से लेकर सितंबर तक की अवधि में  जिले के 261 व्यक्ति यूरिया के टॉप 20 बायर्स है।
जिले में सर्वाधिक सैलाना में 143 व्यक्ति टॉप 20 बायर्स में सम्मिलित हैं। इस पर कलेक्टर ने कहा कि सैलाना में इतने ज्यादा लोगों का बड़ी मात्रा में यूरिया खरीदना शंका को जन्म देता है। सैलाना में पदस्थ कृषि विभाग का अमला कार्य नहीं कर रहा है। उपसंचालक कृषि कार्रवाई करें, भौतिक सत्यापन पश्चात यूरिया की कालाबाजारी करने वाले के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराई जाएं। ऐसे व्यक्तियों के विरुद्ध एनएसए में कार्रवाई कर 6 माह के लिए जेल भिजवाया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि सैलाना में संभवत: यूरिया खरीदी पश्चात पड़ोसी राजस्थान राज्य तथा अन्य स्थानों को कालाबाजारी की गई हो सकती है। कलेक्टर ने सैलाना के एसडीओ कृषि नानसिंह मंडलोई तथा एसएडीओ यशवंत सिंह रावत को कारण बताओ सूचना पत्र जारी करने के निर्देश दिए। सैलाना एसडीएम ठाकुर से भी तत्काल दूरभाष पर चर्चा की कि आपके यहां भौतिक सत्यापन का कार्य इतना धीरे क्यों चल रहा है। एसडीएम को निर्देशित किया कि सैलाना के टॉप 20 यूरिया बायर्स के भौतिक सत्यापन का कार्य तत्काल पूरा कराया जाए।
बताया गया कि यूरिया के टॉप 20 बायर में रतलाम के 45, जावरा के 23, आलोट के 32, बाजना के 12, पिपलोदा के 6 व्यक्ति सम्मिलित हैं। कलेक्टर ने कहा कि जिन व्यक्तियों द्वारा यूरिया की कालाबाजारी की गई है उनके विरुद्ध सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। समीक्षा के दौरान यूरिया विक्रय में कई सहकारी समितियों की भूमिका भी संदेहास्पद पाई गई, उनकी जांच की जाएगी। दोषी पाए जाने पर समिति प्रबंधक तथा सेल्समैन भी दंडित किए जाएंगे।
इनके प्रति भी जताई नाराजगी
समीक्षा में कलेक्टर द्वारा कार्य में ढिलाई बरती जाने पर सीसीबी महाप्रबंधक जैन, परियोजना अधिकारी आत्मा नरगेश के प्रति भी सख्त नाराजगी व्यक्त की गई। कलेक्टर ने कहा कि आप लोगों को शासन द्वारा भारी भरकम सैलरी प्रदान की जाती है। अपने दायित्वों का अच्छे से निर्वाह करें, टाइम पास नहीं करें। कर्तव्य के लिए अपने मन के संतुष्टि स्तर तक जाकर कार्य करें। बैठक में उप संचालक कृषि विजय चौरसिया, उप संचालक उद्यानिकी  पी.एस. कनेल, जीएम सीसीबी आलोक जैन, सहायक संचालक मत्स्य सुश्री सोना यादव, उपायुक्त सहकारिता सिंह आदि उपस्थित थे।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.