31.1 C
Ratlām
Saturday, March 2, 2024

धर्ममय हुई रतलाम की पावन धरा : विधायक काश्यप श्रीमद् भागवत कथा से समाज को जोड़ने का काम कर रहे है – श्री चिदम्बरानंद सरस्वतीजी

चेतन्य काश्यप फाउंडेशन एवं श्री हरिहर सेवा समिति के तत्वावधान में श्रीमद् भागवत कथा ज्ञानयज्ञ

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
चेतन्य काश्यप फाउंडेशन एवं श्री हरिहर सेवा समिति के तत्वावधान में श्रीमद् भागवत कथा ज्ञानयज्ञ का बरबड़ स्थित विधायक सभागृह में भव्य शुभारंभ हुआ। कथा के पहले दिन महामंडलेश्वर स्वामी श्री चिदम्बरानंद सरस्वतीजी महाराज ने पांडाल में उपस्थित श्रद्धालुओं को बताया कि कथा क्यो सुनना चाहिए और कथा का महत्व क्या है। स्वामीजी के मुखारविंद से कथा सुनने के लिए हजारों की संख्या में श्रद्धालुजन उपस्थित रहे।

IMG 20230529 WA0851
धर्ममय हुई रतलाम की पावन धरा : विधायक काश्यप श्रीमद् भागवत कथा से समाज को जोड़ने का काम कर रहे है - श्री चिदम्बरानंद सरस्वतीजी 3

स्वामी जी ने कहा कि जीवन की आपाधापी में जब हम भागदौड़ करते हुए थोड़ा सा भी समय निकालकर परमात्मा से जुड़ने का काम करते है, तो इससे बड़ा कोई सौभाग्य जीवन में हो नहीं सकता। लोगों के मन में आता है कथाएं क्यो सुननी चाहिए, इसकी आवश्यकता क्या है, मैं आपसे कहता हूं कि आपने इस बात को अनेक बार सुना होगा की जीवन में कथा व्यथा को दूर करने का काम करती है। ये बात सच है लेकिन मैं इससे हटकर थोड़ी सी बात और कहता हूं कि ये कि कथाएं वास्तिवक रूप से व्यवहारिक जीवन को आध्यात्मिक एवं सामाजिक जीवन को पूर्ण बनाने का काम करती है। कथा हर दृष्टि से आपको मार्गदर्शन देने का काम करती है।
स्वामी जी ने कहा कि धर्म की संस्कृति पूरे देश को जोड़े हुए है, ये आध्यात्म की संस्कृति है, जिसने हमको जोड़ना सिखाया। विधायक चेतन्य काश्यप श्रीमद् भागवत कथा के नाम से समाज को जोड़ने का काम कर रहे है। हमारी दृष्टि में धर्म होना चाहिए, समाज होना चाहिए, हमारी दृष्टि में मानवता होना चाहिए। हमे हमारी संस्कृति और भगवान की जानकारी होना बहुत आवश्यक है। बच्चों को धर्म की जानकारी तब होगी, जब आपको होगी। कथा के माध्यम से ही व्यक्ति धर्म से जुड़ता है। रतलाम की दृष्टि से आज शोभा यात्रा ऐतिहासिक रही है। इतनी गर्मी में इतनी संख्या में महिलाएं शामिल हुई है। प्रथम दिन कथा समाप्ति के पश्चात् महाआरती की गई।
हम सभी सौभाग्यशाली
कथा के दौरान मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित प्रभारी मंत्री ओ.पी.एस. भदौरिया ने कहा कि मैं महाराज की जन्मभूमि के क्षेत्र से आता हूं। इतने महान संत के दर्शन मुझे काश्यप जी के माध्यम से हुए। क्रीड़ा भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री प्रसाद महानकर ने कहा कि हम सभी सौभाग्यशाली है, जिनके लिए स्वामी जी यहां आए है। भागवत कथा का सार जीवन का आनंद देती है। जीवन में सार्थकता चाहिए, इसके बिना जीवन परिपूर्ण नहीं होता। विधायक चेतन्य काश्यप ने कहा कि रतलाम धर्म नगरी है, यहां पर सभी का सामंजस्य है। कल संसद भवन के लोकार्पण के माध्यम से धर्म का राज्य और धर्म की नीति प्रारंभ हुई है। संपूर्ण समग्र विकास की परिकल्पना को लेकर हम आगे बढ़ रहे है। कार्यकर्ताओं की मेहनत से कलश यात्रा सफल हुई है, मैं रतलाम की धर्म भावना को नमन करता हूं।
कथा के दौरान मुख्य अतिथि प्रभारी मंत्री श्री भदोरिया एवं विशेष अतिथि श्री महानकर सहित भाजपा जिलाध्यक्ष राजेन्द्रसिंह लुनेरा, महापौर प्रहलाद पटेल, ग्रामीण विधायक दिलीप मकवाना, निगम अध्यक्ष मनीषा शर्मा, श्री हरिहर सेवा समिति अध्यक्ष मोहनलाल भट्ट, श्री गोपाल जी का बड़ा मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष मनोहर पोरवाल, सनातन धर्मसभा अध्यक्ष कन्हैयालाल मौर्य, समाजसेवी गोविंद काकानी, ताराबेन सोनी, राखी व्यास, पार्षद निशा सोमानी, देवश्री पुरोहित, अनिता वसावा, अनिता कटारा मंचासीन रहे। कार्यक्रम का संचालन विकास शैवाल ने किया।
धन्य हुई रतलाम की धरा

IMG 20230529 WA0853
धर्ममय हुई रतलाम की पावन धरा : विधायक काश्यप श्रीमद् भागवत कथा से समाज को जोड़ने का काम कर रहे है - श्री चिदम्बरानंद सरस्वतीजी 4

चेतन्य काश्यप फाउंडेशन एवं श्री हरिहर सेवा समिति के तत्वावधान में अयोजित श्रीमद् भागवत कथा ज्ञानयज्ञ के आरंभ से पूर्व शहर में भव्य ऐतिहासिक कलश यात्रा निकाली गई। इसमें हजारों की संख्या में माताएं एवं बहने सिर पर कलश लेकर शामिल हुई। कलश यात्रा अलकापुरी चौराहे से बरबड़ स्थित विधायक सभागृह पहुंची। कलश यात्रा महामंडलेश्वर स्वामी श्री चिदम्बरानंद सरस्वतीजी के सानिध्य में निकली। इसका शुभारंभ मुख्य अतिथि प्रभारी मंत्री ओ.पी.एस. भदोरिया एवं विशेष अतिथि क्रीड़ा भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री प्रसाद महानकर ने की। कलश यात्रा के बरबड़ स्थित विधायक सभागृह पहुंचने पर रथ से विधायक चेतन्य काश्यप, श्रीमती नीता काश्यप, संगीतकार सिद्धार्थ काश्यप ने पौथी एवं कलश सिर पर धारण कर व्यास गद्दी पर विराजित किया। मंच पर श्री काश्यप ने परिवार सहित पौथी पूजन कर महामंडलेश्वर स्वामी जी का स्वागत किया।
सामाजिक व धार्मिक संगठनों ने किया स्वागत
यात्रा में सबसे आगे ध्वज वाहक ऊंट एवं घोडे़ पर पर ध्वज वाहक सवार थे। इसके बाद ढोल वाहिनी, ध्वज वाहिनी, बैंड के साथ चल रहे थे। उनके पीछे हजारों माताएं, बहने सिर पर कलश धारण किए यात्रा में शामिल हुई। परम पूज्य महामंडलेश्वर स्वामी श्री चिदंबरानंद जी महाराज एवं संतगण रथ में विराजित रहे। उनके पीछे बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन जयकारा कर वातावरण को धर्ममय बना रहे थे। यात्रा का विभिन्न स्थानों पर धार्मिक व सामाजिक संगठनों द्वारा भव्य स्वागत किया गया। इसमें मोहन बाग में कैलाश पोरवाल, गायत्री परिवार, भाजयुमो जिलाध्यक्ष विप्लव जैन, विजय पांडे, जयंत बोहरा, सनातन धर्म सोशल ग्रुप, जोधा बाग पर पुरोहित परिवार, श्रीजी पैलेस पर चौधरी परिवार, बालाजी सेंट्रल पर अग्रवाल परिवार सहित आदि संस्थाएं शामिल रही।

KK Sharma
KK Sharmahttp://www.vandematramnews.com
वर्ष - 2005 से निरंतर पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय। विगत 17 वर्ष में सहारा समय, अग्निबाण, सिंघम टाइम्स, नवभारत, राज एक्सप्रेस, दैनिक भास्कर, नईदुनिया (जागरण) सहित अन्य समाचार पत्र और पत्रिकाओं में विभिन्न दायित्वों का निर्वहन किया। पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय रहते हुए वर्तमान में समाचार पोर्टल वंदेमातरम् न्यूज में संपादक की भूमिका का दायित्व। वर्तमान में रतलाम प्रेस क्लब में कार्यकारिणी सदस्य। Contact : +91-98270 82998 Email : kkant7382@gmail.com
Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Copyright Content by VM Media Network