नेताओं ने ही तोड़ा प्रोटोकॉल, फोटो खिंचवाने की मची रही होड़, कोरोना गाइड लाइन भी भूले

नेताओं ने ही तोड़ा प्रोटोकॉल, फोटो खिंचवाने की मची रही होड़, कोरोना गाइड लाइन भी भूले

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
प्रदेश में अभी कोरोना संक्रमण खत्म नहीं हुआ है। प्रदेश सरकार ने ही कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए दो गज की दूरी मास्क है जरूरी का संदेश देते हुए गाइड लाइन आमजन के लिए तय कर रखी है। लेकिन गुरुवार को रतलाम आए प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान के सामने ही नेताओं ने गाइड लाइन तोड़ दी।
बरबड़ स्थित विधायक सभागृह में सीएम कार्यक्रम के आखरी में जब कोरोना काल मे सेवा देने वालों का सम्मान कर रहे थे तभी पार्टी के मंडलों से जुड़े पदाधिकारी दर्शक दीर्घा में से मंच पर जाने की कोशिश करने लग गए। तभी मौजूद सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें रोक दिया। नेता लोग बड़े हार अपने साथ लेकर आए थे। सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें जांच कराने को कहा, लेकिन सभी को मंच पर जाने की जल्दी थी और हंगामा करने लग गए। वरिष्ठ अधिकारी भी इस दौरान बीच में आए। एक महिला सदस्य तो यह भी कहने लगी कि रात दिन मेहनत करने वालों को आगे नही जाने दिया जा रहा है। कार्यक्रम खत्म होने पर जब सीएम मंच से उतरने वाले थे, तभी पार्टी के मंडलों से जुड़े नेता जोर आजमाइश कर सीएम के सामने पहुंच गए। सीएम को भी वापस पलटना पड़ा। जबकि सीएम ने भी मंच पर आते ही स्वागत सत्कार को बीच मे रोक दिया था। उसके बावजूद भी सीएम के प्रोटोकॉल का पालन नेता ही नहीं कर पाए।
सुबह से आए सीएम के जाने के बाद लगा वेक्सिनेशन
विधायक सभागृह पर भी वेक्सीशनेशन सेंटर बनाया गया था। यहां पर 8 लेन कर्मचारियों को टीका लगाया जाना था। दो बसों में कर्मचारियों को लाया गया। लेकिन सीएम के आने तक इन्हें टीका नही लगाया गया। कर्मचारी परेशान होते रहे। कर्मचारी शाबिर अंसारी, आशीष ठाकुर ने बताया कि सुबह 9.30 बजे आ गए थे। पहला डोज लगाना था। सीएम के जाने के बाद टीका लगाया गया। इसके पहले तो मना ही कर दिया था। जवाहर नगर स्थित वेक्सीशनेशन सेंटर पर गए। वहां पर्ची दी गई। बाद में हमे फिर से सभागृह भेजा गया।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.