मौला-मौला आका मौला से गूंजा स्टेशन परिसर, धर्म गुरु को अपने सामने देख खुशी के निकले आंसू

मौला-मौला आका मौला से गूंजा स्टेशन परिसर, धर्म गुरु को अपने सामने देख खुशी के निकले आंसू

रतलाम, वन्देमातरम् न्यूज।
बोहरा समाज के 53वें धर्मगुरु आली कदर सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन साहब ट्रैन से सूरत जाते समय कुछ मिनट के रतलाम रेलवे स्टेशन पर रुके। अपने धर्म गुरु के दीदार को लेकर हजारों की संख्या में बोहरा समाजजन स्टेशन पहुंचे। अपने आका मौला को देख समाजजनों की आंखों से आंसू निकल आया। मौला-मौला आका मौला के नारों से स्टेशन परिसर गूंज उठा।
बता दे कि सैयदना साहब 5 से 9 नवंबर तक मंदसौर जिले के भानपुरा, शामगढ़, सुवासरा व सीतामऊ में थे। मंगलवार को चौमेहला से सूरत जाने के लिए धर्म गुरु रवाना हुए। रतलाम के समाजजनों को दोपहर में रतलाम स्टेशन पर दीदार की स्वीकृति मिली। स्वीकृति मिलते ही काम समय मे समाजजनों ने रेलवे के माध्यम से प्लेटफार्म नंबर 4 पर धर्म गुरु के लिए छोटा मंच के साथ एक रेम्प भी बनाया गया। रात 9.10 बजे जयपुर मुंबई ट्रैन के स्टेशन पर रुकते ही अपने गुरु के दीदार को लेकर समाजजनों की आंखों से आंसू निकल आए।

जल्द आऊंगा रतलाम
बड़ी संख्या में समाजजनों को देख धर्म गुरु ने दुआ कि की जल्द रतलाम आऊंगा। इसके पहले चारों आमिल साहब के साथ चारों जमात के सेक्रेटरी ने सैयदना साहब का स्वागत किया। रेम्प पर चल समाजजनों को दर्शन दिए। साथ ही स्टेशन पर की गई व्यवस्था की तारीफ भी की।

प्लेटफॉर्म टिकिट लेकर पहुंचे समाजजन
धर्म गुरु के दीदार को लेकर समाजजन स्टेशन पर प्लेटफॉर्म लेकर पहुंचे। समाज प्रवक्ता सलीम आरिफ ने बताया कि1300 प्लेटफॉर्म टिकिट लिए गए।
एक घण्टे में स्टेशन को कर दिया चकाचक
धर्मगुरु के ट्रेन से रवाना होने के बाद समाज जनों ने स्वच्छता का भी संदेश दिया। स्टेशन परिसर को 1 घंटे में पूरा साफ कर दिया। बुरहानी गार्ड, शबाब कमेटी, कोलोबा कमेटी एवं पीआरओ कमेटी के साथ 200 वॉलिंटियर्स ने पूरी व्यवस्था संभाल रखी थी।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.