पति की सलामती के लिए पत्नी ने की किडनी दान, ग्रामीणों ने देवालयों में की प्रार्थना दोनों स्वस्थ होकर जल्द लौटें

पति की सलामती के लिए पत्नी ने की किडनी दान, ग्रामीणों ने देवालयों में की प्रार्थना दोनों स्वस्थ होकर जल्द लौटें

केके शर्मा
रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।

रतलाम जिले के ग्राम सिमलावदा के लक्ष्मण पाटीदार की दोनों किडनियां खराब हो गई थी। पति की सलामती के लिए पत्नी चंद्रकला पाटीदार ने साहसिक कदम उठाते हुए अपनी किडनी ट्रांसप्लांट कराकर पति की जान बचाई है। दोनों की सलामती व जल्द स्वस्थ होकर गांव लौटने की कामना के लिए ग्रामीणों ने भी गांव के मंदिरों में धार्मिक आयोजन किए।

गांव के मंदिर में हवन करतें हुए ग्रामीण।

बता दे कि कुछ माह पहले लक्ष्मण की अचानक से तबीयत खराब होने पर पहले रतलाम इलाज कराया। यह आराम नही मिलने पर इंदौर में लेकर गए तो पता चला कि दोनों किडनियां खराब है। पिछले दो माह से गुजरात के नड़ियाद में उनका इलाज चल रहा रहा था। उन्हें एक किडनी की जरूरत थी। तब पत्नी ने अपनी किडनी देने का फैसला लिया। बुधवार को किडनी ट्रांसप्लांट का ऑपरेशन हुआ। दोनों का आपरेशन सफल हो इसके लिए गांव सिमलावदा के लोगों ने मां अम्बे माता मंदिर पर यज्ञ, शिव मंदिर पर अभिषेक और बजरंग बली जी के मंदिर पर सुंदर कांड पाठ का आयोजन किया। जिसमें ग्रामीणों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया। दोनों पति पत्नी स्वस्थ होकर घर लौटने की कामना की। परिवार के सिमलावदा निवासी शांतिलाल पाटीदार ने बताया कि फरवरी माह से लक्ष्मण की तबीयत खराब थी। बहन चंद्रकला ने अपनी एक किडनी ट्रांसप्लांट की है। दोनों की सलामती के लिए गांव में धार्मिक आयोजन किए गए। लक्ष्मण खेतीबाड़ी कर अपना व परिवार का जीवनयापन करता है। दंतोड़िया के सुरेश पाटीदार ने बताया कि ग्रामीण महिला होकर पति की सलामती के लिए साहसिक कदम उठाया है। इनके लिए हर सम्मान छोटा है। इन्होंने सांसद, विधायक व कलेक्टर से भी आर्थिक सहयोग की अपील की है।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.