राहत : डेढ़ साल में पहली बार रतलाम में एक भी एक्टिव कोरोना केस नहीं, कलेक्टर ने कहा अभी कोरोना समाप्त नहीं हुआ है, एहतियात बरतना है

राहत : डेढ़ साल में पहली बार रतलाम में एक भी एक्टिव कोरोना केस नहीं, कलेक्टर ने कहा अभी कोरोना समाप्त नहीं हुआ है, एहतियात बरतना है

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
डेढ़ साल में रतलाम में पहली बार बुधवार को यह स्थिति बनी कि एक भी कोरोना एक्टिव पेशेंट नहीं है। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने इस सुखद स्थिति के लिए नागरिकों की सजगतासतर्कता एवं चिकित्सकीय व्यवस्थाओं की सराहना की।
कलेक्टर पुरुषोत्तम ने कहा कि डेढ़ वर्ष बाद रतलाम में एक भी कोरोना एक्टिव पेशेंट नहीं होना सुखद हैमगर हमें इस स्थिति को बनाए रखना है। अभी कोरोना समाप्त नहीं हुआ है, हमें सभी एहतियात बरतना है। उन्होंने कहा कि रतलाम शहर में वैक्सीनेशन को लेकर सुखद स्थिति बनी है। यहां लगभग 85 प्रतिशत वैक्सीनेशन हो चुका है। यही स्थिति रतलाम जिले में भी हमें बनानी हैइसके लिए उन्होंने सभी नागरिकों से अपील की कि वे वैक्सीनेशन अवश्य करवाएं।

दूसरा डोज प्राथमिकता से लगाएं
कलेक्टर पुरुषोत्तम ने बताया कि जिन्होंने पहला डोज लगवा लिया है और दूसरा डोज लगवाना हैवे प्राथमिकता के आधार पर सेकंड डोज लगवाए। अभी 36 हजार ऐसे लोग हैं जिनका सेकंड डोज ड्यू है। कलेक्टर ने सेकंड डोज लगवाने की अपील भी की हैं। उन्होंने कहा कि रतलाम शहर में अगस्त को इसीलिए सिर्फ सेकंड डोज के लिए ही वैक्सीनेशन कैंप लगाया जा रहा है। आने वाले समय में भी रतलाम शहर में ब्लाक बुकिंग के अतिरिक्त सेकंड डोज के लिए ही अधिक कैंप लगाए जाएंगेताकि शहर में शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन हो जाए। उन्होंने जिले के सभी नागरिकों से अपील की कि वे इस स्थिति को बनाए रखने के लिए मास्क का प्रयोग अवश्य करेंसोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें और सभी एहतियाती उपायों पर ध्यान दें।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.