आचार संहिता का उल्लंघन : रतलाम में कांग्रेस ने प्रदेश के वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा को घेरा, मीडिया के सवालों से बचकर भागे मंत्री

- Advertisement -

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
नगरीय निकाय चुनाव -2022 की आचार संहिता का उल्लंघन मध्यप्रदेश के वित्तमंत्री जगदीश देवड़ा ने सरेआम किया। रतलाम के स्टेशन रोड क्षेत्र पर एक कॉफी हाउस पहुंचे। जहां पहले से ही भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे। इस बात की जानकारी कांग्रेस नेताओं को लगने पर कॉफी हाउस के बाहर वह भी पहुंच गए। जैसे ही मंत्री जगदीश देवड़ा नीचे उतरे कांग्रेस नेताओं ने उन्हें घेर लिया। कांग्रेस नेताओं ने उन पर रुपये बाटने का आरोप लगाया। मीडिया को देख मंत्री देवड़ा और भाजपा पदाधिकारी सकपका गए। आनन-फानन में मीडिया के सवालातों से बचकर मंत्री गाड़ी में बैठकर भागे। मंत्री किस तरह सवालों से बचकर भागे… पूरा वीडियो वंदेमातरम् न्यूज पाठकों को उपलब्ध करा रहा है।
निर्वाचन विभाग के निर्देश को दरकिनार करते हुए मतदान से ठीक एक दिन पूर्व मंगलवार को प्रदेश के वित्तमंत्री जगदीश देवड़ा पदाधिकारियों के साथ सुबह से जनसंपर्क में जुटे हुए थे। शाम करीब 5 बजे स्टेशन रोड क्षेत्र स्थित एक भाजपा कार्यकर्ता के कॉफी हाउस पर पहुंचे। कॉफी हाउस में मंत्री देवड़ा के साथ निर्मल कटारिया, राहुल निंदाने, अनीता कटारिया, पूर्व निगम अध्यक्ष अशोक पोरवाल, मधु पटेल सहित बड़ी संख्या में भाजपा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद थे। मंत्री देवड़ा की ओर से जनसपंर्क की सूचना पर कांग्रेस की ओर से किशन सिंघाड़, दिनेश शर्मा, सैयद वुसद अली सहित कार्यकर्ता पहुंच गए।

देखे वीडियो : मंत्री व कांग्रेस नेताओं की हॉट टॉक
- Advertisement -

सुबह से मीडिया को मंत्री देवड़ा, मंत्री मोहन यादव, मंत्री हरदीपसिंह डंग, उज्जैन के विधायक पारस जैन और प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा के मौजूद होने की सूचना थी। मंत्री देवड़ा कई स्थानों पर घर-घर पहुंच जनसपंर्क में जुटे थे, इसी दौरान स्टेशन रोड पर निजी वाहन से मंत्री जगदीश देवड़ा के पहुंचने पर मीडिया को देख भौच्चके रह गए। मंत्री देवड़ा मुंह नीचे कर दौड़ते हुए वाहन में बैठे और मीडिया के सवालों से निरूत्तर रहे। इस दौरान कांग्रेसियों ने मंत्री देवड़ा के समक्ष पैसे बांटने का आरोप भी लगाया। कांग्रेस ने मामले में जिला निर्वाचन अधिकारी को पूरे मामले की शिकायत की है। कांग्रेस नेताओं ने मंत्री देवड़ा को रोकने के लिए उनकी कार के पीछे दौड़ भी लगाई। लेकिन वे नहीं रुके। विभागीय अधिकारियों की माने तो चुनाव के 36 घन्टे के पहले कोई भी बाहरी व्यक्ति जिले में नहीं आ सकता। ऐसे में भाजपा के कई मंत्री शहर में घूम रहे है और प्रशासन मौन है।

- Advertisement -

Related articles

ऐसी लापरवाही : पूरे वर्ष काम नहीं किया, बैठक से भी नदारत सचिव हो गया सस्पेंड

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।रतलाम जिला पंचायत सीईओ जमुना भिड़े ने जनपद पंचायत सैलाना की ग्राम पंचायत कुआझागर के सचिव...

सेवा का सम्मान : महेंद्र गादिया जैन विभूति की उपाधि से सम्मानित, जैन सोशल ग्रुप इंटरनेशनल फेडरेशन ने दिया सम्मान

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।जैन सोशल ग्रुप इंटरनेशनल फेडरेशन द्वारा सकल जैन श्री संघ, जैन हेल्पलाइन व सोशल ग्रुप रतलाम...

मुख्यमंत्री का माना आभार : पूर्व महापौर शैलेंद्र डागा ने नजूल एनओसी की अनिवार्यता समाप्त करने के निर्णय का किया स्वागत, विभाजित प्लाट मामले...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।नए साल से बिल्डिंग परमिशन के लिए लगने वाली नजूल एनओसी की अनिवार्यता को समाप्त करने...

चौथी बार सड़क पर उतरे कलेक्टर : भाजपा नेता की भी नहीं चली, रेलवे की सीमा पर अतिक्रमण नहीं हटाने के लिए आगे आए...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।रतलाम शहर में ट्रैफिक सुधार को लेकर अतिक्रमण मुहिम लगातार जारी है। सोमवार को अतिक्रमण मुहिम...
error: Content is protected by VandeMatram News