खबर का असर : रसूखदार कारोबारी अंकलेसरिया पर कार्रवाई, दो बत्ती बिल्डिंग से पर्दा ऊतारा, सामग्री जब्त

- Advertisement -

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
दो बत्ती स्थित कारोबारी गुस्ताद अंकलेसरिया द्वारा नियम विरुद्ध बिल्डिंग में कराए जा रहे निर्माण कार्य के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई। कार्य रोकने के नोटिस जारी करने के बाद बुधवार को सिटी इंजीनियर टीम लेकर बिल्डिंग पर पहुंची। तीन मंजिला बिल्डिंग पर नियम विरुद्ध रखे पर्दे को उतारने के साथ बड़ी मात्रा में निर्माण सामग्री जब्त की गई। वंदेमातरम् न्यूज से नगर निगम के जिम्मेदारों को संज्ञान में मामला आने के बाद काफी हलचल देखी गई। नगर निगम कमिश्नर ने सिटी इंजीनियर को कारोबारी गुस्ताद अंकलेसरिया के खिलाफ अनुमति बगैर निर्माण करने पर ठोस कार्रवाई के निर्देश भी जारी किए हैं।

पर्दे हटाते हुए कर्मचारी।
कार्रवाई करते हुए निगम कर्मी।
- Advertisement -

बता दें कि दो बत्ती स्थित बिल्डिंग स्वामी टीएस अंकलेसरिया का पुत्र रसूखदार गुस्ताद अंकलेसरिया नगर निगम से अनुमति लिए बगैर सरकारी सडक़ पर बांस का सपोर्ट लेकर परदे की आड़ में बड़े पैमाने पर मरम्मत कार्य करवा रहा था। सोमवार को वंदेमातरम् न्यूज में समाचार प्रकाशित होने के बाद नगर निगम के जिम्मेदारों ने दो बत्ती (गजेंद्रप्रसाद मार्ग) स्थित भवन स्वामी टीएस अंकलेसरिया को शासकीय सडक़ पर मलबा डालकर एलिवेशन सहित बिल्डिंग के अंदर वाले हिस्से में नवनिर्माण बिना अनुमति करने की जांच की। जांच उपरांत सिटी इंजीनियर मोहम्मद हनीफ शेख ने भवन स्वामी टीएस अंकलेसरिया को नोटिस जारी कर पक्ष रखने के लिए 24 घंटे का समय दिया था। मियांद बीतने के बाद भी जवाब नहीं मिलने पर बुधवार को सिटी इंजीनियर शेख वार्ड उपयंत्री मनीष तिवारी के अलावा टीम को लेकर कार्रवाई करने पहुंचे। रसूखदार कारोबारी गुस्ताद अंकलेसरिया के कर्मचारी सिटी इंजीनियर शेख सहित टीम को कार्रवाई नहीं करने के लिए मिन्नते करते दिखाई दिए। नगर निगम आयुक्त सोमनाथ झारिया के सख्त निर्देश के बाद हालात ऐसे बने की सिटी इंजीनियर शेख ने मौके पर एक की नहीं सुनी और कर्मचारियों से निर्माण सामग्री जब्त करने के साथ ही बिल्डिंग पर पर्दे की आड़ में किए जा रहे कार्य को उजागर करने के लिए तीन मंजिला से पर्दे हटाने के साथ बांस भी निकलवाकर जब्त कराए।
15 हजार रुपए के मान से वसूलेंगे शुल्क
दो बत्ती स्थित टीएस अंकलेसरिया बिल्डिंग पर अनुमति बगैर निर्माण कार्य पाया है। उक्त मामले में नोटिस जारी कर भवन स्वामी को पक्ष रखने के लिए समय दिया था। समय गुजरने के बाद बुधवार को जब्ती की कार्रवाई की गई है। कार्रवाई के एवज में संबंधित भवन स्वामी से 15 हजार रुपए घंटे के मान से शुल्क वसूला जाएगा। इसके अलावा नियम विरुद्ध निर्माण को लेकर आगे की कार्रवाई भी जारी रहेगी। – सोमनाथ झारिया, कमिश्नर-नगर निगम रतलाम

- Advertisement -

Related articles

कलेक्टर ने सपत्नीक देखी हस्तशिल्प प्रदर्शनी : शिल्पिकारों की कलाओं को सराहा, कहां हस्तनिर्मित इन वस्तुओं में कलाकार की भावना काफी महत्वपूर्ण

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।संत रविदास मध्यप्रदेश हस्तशिल्प हथकरघा विकास निगम का प्रयास सदैव सराहनीय रहा है। सरकार ने भी...

50 से ज्यादा हस्तशिल्पिकारों की कलाकारी एक ही स्थान पर : कंपनी को मात देते दूधी के जूते, बहुत कुछ है इस हस्तशिल्प मेले...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।रतलाम के रोटरी हॉल अजंता टॉकीज रोड पर चल रहे हस्तशिल्प मेले में 50 से ज्यादा हस्तशिल्पों के...

हस्तशिल्प मेले में एक से बढ़कर एक कारीगरी : भोपाल से आए कलाकार की अनूठी कला, कलात्मक हस्तशिल्प सामग्री बनी आकर्षण

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।मृगनयनी, संत रविदास मध्यप्रदेश हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम लिमिटेड, मध्यप्रदेश शासन द्वारा रोटरी हॉल अजंता...

वर्चस्व की लड़ाई में सजा : बहुप्रतिक्षित फैसले में भदौरिया ग्रुप के आरोपियों को 7 वर्ष तो अंबर ग्रुप के आरोपियों को 6 वर्ष...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।एक दशक पूर्व रतलाम के जूनियर इंस्टीट्यूट के सामने शिखा बार में दो पक्षों के बीच...
error: Content is protected by VandeMatram News