वेस्टर्न रेलवे में पहला प्रयोग, दुर्घटना राहत ट्रेन की वैगन में लाइटिंग

- Advertisement -

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
ट्रेन दुर्घटना होने पर मौके पर पहुंचने वाली दुर्घटना राहत ट्रेन (एक्सीडेंट रिलीफ़ ट्रेन) से जुड़ी एक वैगन में अब रोशनी के लिए लाइटिंग के इंतजाम हुए है। दुर्घटना के वक्त वैगन से आवश्यक सामग्री निकालने में राहत दल को इससे आसानी होगी। पश्चिम रेलवे डिप्टी चीफ सेफ्टी ऑफिसर (सीएसओ) ने निरीक्षण के बाद इसे पश्चिम रेलवे का पहला प्रयोग बताया।
मालूम हो कि दुर्घटना राहत ट्रेन में सात कोच जुड़े रहते है। इसमे एक वैगन भी शामिल रहती है। इस वैगन में इंजीनियरिंग विभाग की दुर्घटना के बाद राहत कार्य मे काम आने वाली सामग्री रखी जाती है।
सेफ़्टी से जुड़े मामलों का लिया जायजा
डिप्टी सीएसओ अंशु माली ने सुबह 11 बजे बाद निरीक्षण शुरू किया। डाउन यार्ड में सीएंडडब्यू के एसएसई राजेश माथुर और ट्रेन लाइटिंग के नरेंद्र सिंह सोलंकी सहित कर्मचारियों से जानकारी ली। सेफ्टी से जुड़े सभी मामलों का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान ट्रेन लाइटिंग स्टाफ ने अधिकारी को बताया कि अभी तक दुर्घटना राहत ट्रेन से जुड़ी वैगन में लाइट नही थी। इससे दुर्घटना स्थल पर सामग्री निकलने व रखने में दिक्कतें आती थी। इसलिए दूसरे कोच से कनेक्शन कर बिजली के इंतजाम किए। डिप्टी सीएसओ अंशुमाली ने कहा कि पश्चिम रेलवे में इस तरह का पहला प्रयोग है। जोन के अन्य मंडलों में भी ऐसे सुझाव दिए जाएंगे।

- Advertisement -

Related articles

कलेक्टर ने सपत्नीक देखी हस्तशिल्प प्रदर्शनी : शिल्पिकारों की कलाओं को सराहा, कहां हस्तनिर्मित इन वस्तुओं में कलाकार की भावना काफी महत्वपूर्ण

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।संत रविदास मध्यप्रदेश हस्तशिल्प हथकरघा विकास निगम का प्रयास सदैव सराहनीय रहा है। सरकार ने भी...

50 से ज्यादा हस्तशिल्पिकारों की कलाकारी एक ही स्थान पर : कंपनी को मात देते दूधी के जूते, बहुत कुछ है इस हस्तशिल्प मेले...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।रतलाम के रोटरी हॉल अजंता टॉकीज रोड पर चल रहे हस्तशिल्प मेले में 50 से ज्यादा हस्तशिल्पों के...

हस्तशिल्प मेले में एक से बढ़कर एक कारीगरी : भोपाल से आए कलाकार की अनूठी कला, कलात्मक हस्तशिल्प सामग्री बनी आकर्षण

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।मृगनयनी, संत रविदास मध्यप्रदेश हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम लिमिटेड, मध्यप्रदेश शासन द्वारा रोटरी हॉल अजंता...

वर्चस्व की लड़ाई में सजा : बहुप्रतिक्षित फैसले में भदौरिया ग्रुप के आरोपियों को 7 वर्ष तो अंबर ग्रुप के आरोपियों को 6 वर्ष...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।एक दशक पूर्व रतलाम के जूनियर इंस्टीट्यूट के सामने शिखा बार में दो पक्षों के बीच...
error: Content is protected by VandeMatram News