हरिद्वार-बांद्रा ट्रेन से रतलाम उतरना था, नींद खुली तो मेघनगर पहुंच गया, दाहोद स्टेशन पर कूदने से मौत

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
हरिद्वार-बांद्रा एक्सप्रेस (गाड़ी न 09018) सवार रतलाम में रेलवे पार्सल क्लर्क राजीव शर्मा के 20 वर्षीय बेटे गालव शर्मा की चलती ट्रेन से कूदने की वजह से मौत हो गई। दिल्ली से ट्रेन में सवार गालव को रतलाम स्टेशन उतरना था। नींद लगने की वजह से वह आगे निकल गया। मेघनगर स्टेशन आते नींद खुली। लेकिन नॉनस्टॉप होने से ट्रेन वहां ठहरी नही। दाहोद में उतरने के प्रयास में जान गवां बैठा। ट्रेन में आने से मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। घटना से सभी हतप्रभ है। सूचना मिलने पर परिजन शव लेने दाहोद रवाना हुए।
मेघनगर पहुचंते हुई थी पिता से बात
पार्सल विभाग के साथी कर्मचारियों ने बताया कि रेलकर्मी राजीव के दो बेटों में बड़ा बेटा गालव पढ़ाई में होनहार था। प्रतियोगी परीक्षा देकर दिल्ली से रतलाम आ रहा था। ट्रेन नागदा थी तो पिता ने फोन लगाया। नीद की वजह से फोन रिसीव नही किया। मेघनगर पहुचंते गालव ने कॉलबैक कर पिता को नींद लगने की जानकारी देकर रतलाम निकल जाने की बात कही। पिता ने समझाया कि ट्रेन दाहोद भी नही ठहरती है। इसलिए बड़ौदा उतरकर दूसरी ट्रेन से रतलाम लौट आए।
ट्रेन धीमी होने पर कुद पड़ा
ट्रेन जब दाहोद स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 3 से गुजरी। ट्रेन की गति धीमी हुई तो युवक गालव ने उतरने की हिम्मत जुटाई। बैग लेकर जैसे ही वह कूदा तो असंतुलित होने से ट्रैक के नीचे चला गया। पहियों की चपेट में आने से मौत हो गई। यूनियन नेता अशोक तिवारी ने बताया कि शवयात्रा 25 सितंबर शनिवार को उनके निवास 25 शक्ति नगर से सुबह 9 बजे जवाहरनगर मुक्तिधाम पर जाएगी।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.