जनसुनवाई बेअसर : मंगलमूर्ति रेसिडेंसी के रहवासियों की शिकायत नजरअंदाज, निमंत्रण डेवलपर्स नियम विरुद्ध कर रहा निर्माण

जनसुनवाई बेअसर : मंगलमूर्ति रेसिडेंसी के रहवासियों की शिकायत नजरअंदाज, निमंत्रण डेवलपर्स नियम विरुद्ध कर रहा निर्माण

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
मेसर्स निमंत्रण डेवलपर्स कॉलोनाइजर के बुलंद हौंसले से मंगलमूर्ति रेसिडेंसी के रहवासी परेशान है। मंगलमूर्ति रेसिडेंसी विकास समिति की ओर से कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम के नाम निमंत्रण डेवलपर्स के खिलाफ जनसुनवाई में सौंपी शिकायत के 15 दिन गुजरने के बाद भी कार्रवाई नहीं हुई। नतीजतन जिन बिंदुओं को लेकर रहवासियों ने शिकायत की थी उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से मंगलमूर्ति रेसिडेंसी में भूखंड खरीदने वाले स्वयं को ठगा महूसस कर रहे हैं।
मंगलमूर्ति रेसिडेंसी विकास समिति का आरोप है कि कॉलोनाइजर ने भूखंड बेचने के दौरान कॉलोनी का नक्शा दिखाया था उसके विपरित निर्माण किया जा रहा है। कॉलोनी का सर्विस एरिया हो या फिर मंदिर के समीप खुली भूमि। नक्शे के विपरित सभी भूमि को नियम विपरित विक्रय कर अवैध निर्माण किया जा रहा है। इसी संबंध में 22 फरवरी को मेसर्स निमंत्रण डेवलपर्स के कॉलोनाइजर के खिलाफ जनसुनवाई के माध्यम से शिकायत की गई थी। शिकायत को जिला प्रशासन की ओर से नगर निगम आयुक्त सोमनाथ झारिया के समक्ष प्रस्तुत कर जांच के निर्देश भी जारी कर दिए थे, लेकिन इसके बाद अभी तक न तो नियम विपरित हो रहे निर्माण को रोका गया और न हीं कॉलोनाइजर के खिलाफ कार्रवाई हुई।


निमंत्रण डेवलपर्स के करीबी बना रहे दबाव
मंगलमूर्ति रेसिडेंसी विकास समिति की मानें तो 22 फरवरी को मेसर्स निमंत्रण डेवलपर्स के खिलाफ शिकायत के बाद आवेदन में दर्ज मोबाइल नंबरों पर कुछ लोगों ने फोन लगाकर उन पर दबाव बनाने की भी कोशिश की। दबाव बनाने वालों से समिति पदाधिकारियों ने बताया कि उन्हें भूखंड विक्रय पूर्व नक्शा दिखाकर मंदिर के समीप रिक्त भूमि पर समिति का कार्यालय और हॉल बनाने की बात कही थी। इसके अलावा नक्शे के विपरित सर्विस एरिया जो दर्शाया गया था उन्हें भी विक्रय कर अवैध निर्माण किया जा रहा है। इन समस्याओं को बताने के बाद भी दबाव बनाने वाले संबंधितों ने कहा कि तुम्हें क्या करना है। क्यों इस पचड़े में पड़ रहे हो कॉलोनाइजर बड़ा आदमी है और अधिकारी उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करेंगे।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.