……. साहब कम से कम इतनी न्यूनतम पेंशन तो अवश्य मिलनी चाहिए कि वृद्धावस्था में परिवार का भरण पोषण कर सके

- Advertisement -

रतलाम, वन्देमातरम् न्यूज।
आजाद अध्यापक शिक्षक संघ मध्यप्रदेश के प्रांताध्यक्ष भरत पटेल के आहृवान पर मध्यप्रदेश के समस्त 52 जिलों में पुरानी पेंशन लागू करने की मांग को लेकर ‘‘मुख्यमंत्री भविष्य बचाओ रैली’’ निकालकर ज्ञापन सौंपा गया। इसी तारतम्य में रतलाम जिले में भी कालिका माता प्रांगण से “मुख्यमंत्री भविष्य बचाओ रैली” निकालकर कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर रतलाम के प्रतिनिधि नायब तहसीलदार नरेन्द्र गर्ग को संघ के संभाग अध्यक्ष प्रकाश शुक्ला के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा गया।
संभागाध्यक्ष शुक्ला ने बताया कि हमारी प्रमुख मांग पुरानी पेंशन लागू करवाना है तथा क्रमोन्नति के आदेश जारी करवाना है। वर्तमान में अध्यापक शिक्षक संवर्ग को मध्यप्रदेश सरकार द्वारा दी जा रही वृद्धावस्था पेंशन के बराबर पेंशन मिल रही है। 30 एवं 40 हजार रुपए प्रतिमाह की सैलरी वाले शिक्षक 600 और 900 रूपये में भविष्य कैसे काटेंगे? क्या यह व्यावहारिक है किन्तु यह कटु सत्य है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आजाद अध्यापक शिक्षक संघ मध्यप्रदेश अनुरोध करता है कि मध्यप्रदेश के अध्यापक शिक्षक संवर्ग को कम से कम न्यूनतम पारिवारिक इतनी पेंशन तो अवश्य मिलनी चाहिए जिसमें परिवार का भरण पोषण हो सके।
संभागीय महासचिव परसराम कापड़िया ने बताया कि अध्यापक शिक्षक संवर्ग के साथ नई पेंशन स्कीम के नाम पर छलावा हो रहा है। हमें पुरानी पेंशन वाली ही नीति चाहिए। संभागीय प्रवक्ता ओपी बैरागी ने कहा कि एक ही स्कूल में पढ़ाने वाले दो शिक्षक रहते हैं एक शिक्षक रिटायर होता है तो 40 हजार रुपए पेंशन मिलती है और दूसरा शिक्षक रिटायर होता है तो 1 हजार रुपए पेंशन मिलती है जो कि गलत है।
यह रहे उपस्थित
संभाग सचिव पवन ओझा, संभाग उपाध्यक्ष विनोद यादव, संभागीय प्रवक्ता ओमप्रकाश बैरागी, जिला उपाध्यक्ष आनन्द चावला, जिला महासचिव रामकरण कनेरिया, आलोट ब्लाक अध्यक्ष प्रकाश परमार, कार्यकारी ब्लाक अध्यक्ष बालेश्वर पाटीदार, सैलाना ब्लाक अध्यक्ष दिनेश परमार, बाजना ब्लाक अध्यक्ष तेजू डोडियार, जिला संघठन मंत्री अम्बाराम बोस, ताल अध्यक्ष दशरथ सोंडल, अर्जुन राठौर, जितेंद्र शर्मा, ललिता कदम, संध्या जैन, किरण पाटीदार, कैलाश नारायण भाटी, कन्हैया लाल पाटीदार, विष्णु शर्मा, कैलाश डामर, रमेश उपाध्याय, हिम्मत पंवार, प्रहलाद गेहलोत, मनीष द्विवेदी, आशीष मिश्रा, सुप्रित छाजेड़ आदि उपस्थित रहे। ज्ञापन का वाचन कार्यकारी जिलाध्यक्ष महेंद्र सिंह भाटी ने किया। आभार जिला सचिव राजेश स्वर्णकार ने माना।

- Advertisement -

Related articles

कलेक्टर ने सपत्नीक देखी हस्तशिल्प प्रदर्शनी : शिल्पिकारों की कलाओं को सराहा, कहां हस्तनिर्मित इन वस्तुओं में कलाकार की भावना काफी महत्वपूर्ण

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।संत रविदास मध्यप्रदेश हस्तशिल्प हथकरघा विकास निगम का प्रयास सदैव सराहनीय रहा है। सरकार ने भी...

50 से ज्यादा हस्तशिल्पिकारों की कलाकारी एक ही स्थान पर : कंपनी को मात देते दूधी के जूते, बहुत कुछ है इस हस्तशिल्प मेले...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।रतलाम के रोटरी हॉल अजंता टॉकीज रोड पर चल रहे हस्तशिल्प मेले में 50 से ज्यादा हस्तशिल्पों के...

हस्तशिल्प मेले में एक से बढ़कर एक कारीगरी : भोपाल से आए कलाकार की अनूठी कला, कलात्मक हस्तशिल्प सामग्री बनी आकर्षण

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।मृगनयनी, संत रविदास मध्यप्रदेश हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम लिमिटेड, मध्यप्रदेश शासन द्वारा रोटरी हॉल अजंता...

वर्चस्व की लड़ाई में सजा : बहुप्रतिक्षित फैसले में भदौरिया ग्रुप के आरोपियों को 7 वर्ष तो अंबर ग्रुप के आरोपियों को 6 वर्ष...

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।एक दशक पूर्व रतलाम के जूनियर इंस्टीट्यूट के सामने शिखा बार में दो पक्षों के बीच...
error: Content is protected by VandeMatram News