23.5 C
Ratlām
Saturday, August 13, 2022

चुनावी रण : बारिश में भीगते हुए पहुंचे कांग्रेस के मयंक, भाजपा के पटेल ने सुबह का किया जनसंपर्क निरस्त

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।
मानसून की पहली बारिश ने चुनावी मैदान में उतरे प्रतियाशियों का भी इम्तिहान लिया। खास बात यह है कि कांग्रेस महापौर प्रत्याशी मयंक जाट गुरुवार सुबह निर्धारित समय बरसते पानी में नागरिकों से उनका हाल जानने वार्डों में पहुंचे। दूसरी तरफ बारिश के कारण भाजपा के महापौर प्रत्याशी प्रहलाद पटेल ने सुबह का जनसंपर्क कार्यक्रम निरस्त कर दिया। पटेल के निरस्त जनसंपर्क कार्यक्रम को अब मतदाता कई मायनों में देख रहे हैं। हालांकि बारिश रुकने के बाद घरों में पानी घुसने की समस्या की सूचना पर पटेल शिवनगर बस्ती में पहुंचे थे। जहां लोगो ने तंज कसते हुए कह डाला कि जैसे आज आये हो वैसे बाद में भी आना। महापौर अगर बना जाओ तो भूल मत जाना।
गुरुवार सुबह पहली बारिश ने मानसून पूर्व प्रशासनिक व्यवस्थाओं की पोल खोल कर रख दी। कांग्रेस महापौर प्रत्याशी मयंक जाट को जनसंपर्क के दौरान वार्ड क्रमांक-33 शास्त्री नगर, शहर सराय और वार्ड-35 में नगर निगम, नाहरपुरा क्षेत्र के नागरिकों ने पहली बारिश से बदहाल स्थिति से रूबरू करवाया।
उन्होंने बताया कि पिछली भाजपा परिषद और नगर निगम प्रशासन की लापरवाहियों से मानसून आगमन के साथ ही शहर में आम जीवन पर आफतों की बारिश हो गई है। रतलामवासियों को स्वच्छ और सुंदर शहर का सपना दिखाने वाले जिम्मेदारों के खिलाफ नागरिकों में भारी आक्रोश है। सफाई के नाम पर खर्च करने के एवज पर किये गये भारी भष्ट्राचार को पहली बारिश ने ही उजागर कर दिया है। वार्डवार अपने जनसंपर्क अभियान “आपका बेटा आपके द्वार” के अंतर्गत कांग्रेस उम्मीदवार मयंक जाट बुधवार को शहर के व्यवसायिक और आवासीय क्षेत्र अंतर्गत वार्ड क्रमांक -33 एवं वार्ड- 35 पार्षद उम्मीदवार के साथ मतदाताओं से उनके द्वार पर उनका दर्द जानने पहुंचे। जनसंपर्क में शहर कांग्रेस अध्यक्ष महेंद्र कटारिया, पूर्व महापौर पारस सकलेचा, विनोद मिश्रा, प्रेमलता दवे, राजीव रावत, फैयाज मंसूरी, राजकुमार जैन लाला सहित स्थानीय पार्टी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

वार्डवार समिति तय करेगी विकास कार्य –
जाट ने बारिश से उत्पन्न समस्याओं को देखने के बाद स्थानीय नागरिकों को विश्वास दिलाया कि मेरे महापौर बनने के बाद हम प्रत्येक वार्ड के लिए स्थानीय नागरिकों की सहभागिता वाली एक समिति गठित करेंगे। यह समिति खुद तय करेगी कि वार्ड में कौन से कार्य सबसे पहले किये जाना चाहिए। इस समिति की सुझाव रिपोर्ट के माध्यम से वार्ड की सभी समस्याओं का निराकरण प्राथमिकता के आधार पर किया जायेगा। जिससे नागरिकों को मूलभूत सुविधाएँ मुहैया हो सके।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

Latest Articles

error: Content is protected by VandeMatram News